palitana jain temple

Best No1 Tourist Places Gujarat Religious & Food

Best No1 Tourist Places Gujarat Religious & Food

भारत देश के गुजरात राज्य के सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रमुख धार्मिक स्थल और यहां के प्रसिद्ध मंदिर के बारे में जानेंगे।

dholavira

dholavira
dholavira map

धोलावीरा भारत के गुजरात राज्य में कच्छ जिले की भचाऊ तालुका में स्थित एक पुरातत्व प्रमुख स्थान है। धोलावीरा में सिंधु घाटी सभ्यता के अवशेष और खंडहर में मिलता है। यह सभ्यता खंडन उस समय का सबसे बड़ा ज्ञात नगरों में से एक था। धोलावीरा अहमदाबाद से लगभग 7 घंटे समय की दूरी तय करनी पड़ती है। धोलावीरा गुजरात के कच्छ जिले में खादिरवेट गांव की एक प्रमुख जगह है। इस जगह पर प्राचीन इंडस घाटी सभ्यता और हड़प्पा संस्कृति के आवेश यहां पर मिलता है। यह जगह 2650 बीसीआई से स्थापित है। यहां पर घूमने के लिए बहुत ही फेमस जगह है। dholavira to bhuj भुज से धोलावीरा जाने में लगभग 5 घंटे 20 मिनट का समय लगता है। भुज से धोलावीरा की दूरी लगभग 213.8 किलोमीटर है। dholavira tourism resort यहां पर घूमने वाले पर्यटकों के लिए रात के समय में ठहरने के लिए यहां के आसपास बहुत सारी होटल्स हैं वहां पर पर्यटक आसानी से होटल्स किराए पर लेकर रह सकते हैं। dholavira images यहां का दृश्य देखने में काफी सुंदर लगता है। यदि आप सभी कभी मौका मिले तो यहां पर जरूर आए घूमने के लिए। या आप गुजरात किसी वजह से जाते हैं तो हम आपको बता दें कि एक बार इस जगह पर घूमने के लिए जरूर जाए यह जगह पर्यटकों को घूमने के लिए बहुत ही सुंदर माना गया है। Places Gujarat Religious

rann resort dholavira

इस रिसॉर्ट में पर्यटकों को रहने के साथ-साथ यहां का स्वादिष्ट भोजन भी प्रसिद्ध है। dholavira famous food यहां पर आने वाले पर्यटक यहां के प्रसिद्ध भोजन का आनंद लेते हैं। यहां पर खाने के लिए विभिन्न प्रकार के भोजन मिलते हैं। सभी भजनों को शुद्ध घी से बनाए जाते हैं। जो कि खाने में काफी सुंदर और स्वादिष्ट लगता है। Places Gujarat Religious

lothal history

lothal
lothal

lothal गुजरात के प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता के शहरों में से एक बहुत ही महत्वपूर्ण शहर माना जाता है। Places Gujarat Religious यह शहर 2400 ईसापूर्व पुराना भारत में गुजरात राज्य के भाल क्षेत्र में स्थित है। इसकी खोज सन 1954 में की गई थी। लोथल अहमदाबाद जिले के धोलका तालुका गांव सरागवाला के निकट स्थित है। यह अहमदाबाद भावनगर रेलवे लाइन के स्टेशन लोथल भुरखी से दक्षिण पूर्व दिशा में लगभग 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। लोथल शहर को मिनी हड़प्पा के नाम से भी जाना जाता है। Places Gujarat Religious यह एक प्रमुख बंदरगाह था। लोथल मुख्य घरों के द्वार मुख्य सड़कों पर खोलते थे। या पश्चिम एशिया में व्यापार का एक प्रमुख केंद्र बना हुआ था। lothal dockyard जो कि विश्व की प्राचीनतम ज्ञात गोदी माना जाता है। यह सिंधु में स्थित हड़प्पा के शहरों और सौराष्ट्र प्रायद्वीप के बीच बहने वाली साबरमती नदी की प्राचीन धारा के द्वारा शहर से जुड़ी हुई थी।

जो कि इस स्थान के माध्यम से एक व्यापार मार्ग था। Places Gujarat Religious पहले के समय में इसके आसपास का कच्छ का मरुस्थल अरब सागर का एक हिस्सा था। lothal gujarat प्राचीन समय में यह एक महत्वपूर्ण व्यापार केंद्र हुआ करता था। Places Gujarat Religious यहां से मोती जब औरत और कीमती गहने पश्चिम एशिया और अफ्रीका के सुदूर कोनो तक भेजे जाते थे। dockyard at lothal 1961 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने खुदाई का कार्य शुरू किया और पीले के पूर्व और पश्चिम पक्षियों की खुदाई के दौरान नालो को खोज निकाला जो नदी के द्वारा गोदी से जुड़े थे। Places Gujarat Religious यहां पर प्रमुख खोजों में एक पीला एक नगर, एक बाजार, स्थल और एक गोदी शामिल है। lothal museum यहां के आसपास एक पुरात्तत्व संग्रहालय भी स्थित है। lothal images यह देखने में काफी सुंदर लगता है। जिसमें सिंधु घाटी से प्राप्त वस्तुएं पर्यटकों के बीच प्रदर्शित की गई हैं। lothal in gujarat बहुत ही प्रचलित है। इस स्थान पर घूमने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। Places Gujarat Religious

who discovered lothal

lothal map लोथल की खुदाई के दौरान लोथल की खोज आर एस राव द्वारा खोज किया गया था। Places Gujarat Religious

palitana jain temple

palitana jain temple
palitana jain temple

पालीताना भारत के गुजरात राज्य के भावनगर जिले में स्थित एक प्रसिद्ध नगर है। इस नगर में जैन धर्म का विशाल तीर्थ स्थान भी है। यह भावनगर शहर से लगभग 50 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम दिशा में स्थित है। यह शहर दुनिया का सबसे एक मात्रक शकाहारी शहर है। यहां जैन मंदिर के लिए प्रसिद्ध पालीताना में पर्वत शिखर पर भव्य 863 से जुड़ी जैन मंदिर है। Places Gujarat Religious पालीताना दुनिया का सबसे कानून रूप से एक मात्रक शाकाहारी शहर माना जाता है। पालीताना का जैन मंदिर सफेद संगमरमर मैं बने इन मंदिरों की नक्काशी विश्व भर में प्रसिद्ध माना जाता है। इस मंदिर को 18 वीं शताब्दी में बने मंदिरों में संगमरमर के शिखर सूर्य की रोशनी में चमकते हुए एक अद्भुत छठा प्रकट करते हैं। पालीताना में शत्रुंजय मैं स्थित जैन समुदाय के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। यह मंदिर गुजरात के प्रमुख धार्मिक स्थल में भी शामिल किया गया है। यह लगभग 863 पत्थरों से बना हुआ यह मंदिर है। इस मंदिर में भगवान ऋषभदेव को समर्पित है। Places Gujarat Religious यहां पर जैन समुदाय के लोग के लिए इस स्थान का अत्यधिक महत्व है। जिसे परमात्मा का निवास माना जाता है। palitana jain temple steps यहां पर जैन श्रद्धालुओं के साथ साथ सभी धर्म के लोग यहां आते हैं। यहां पर जाने से उन्हें मोक्ष की प्राप्ति मिलती है। यह मंदिर यहां का सबसे पवित्र मंदिर में से एक है। यहां पर पूजा के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु हुए आते हैं। Places Gujarat Religious

modhera sun temple

modhera sun temple
modhera sun temple

sun temple गुजरात के एक छोटे से गांव में मोढेरा में पुष्पावती नदी के तट पर स्थित है। यह मंदिर गुजरात के प्रमुख मंदिरों में से एक माना जाता है। इस मंदिर को इस तरह से बनाया गया है कि सूर्योदय और सूर्यास्त की किरणें सीधे सूर्य की मूर्ति पर ही पड़ती है। इसी वजह से इस मंदिर को गुजरात में सबसे अधिक देखे जाने वाले मंदिर में स्थान प्राप्त है। इस मंदिर की स्थापना 11 वीं सदी में सोलंकी वंश के राजा भीमदेव ने किए थे। यह मंदिर सूर्य कांड सभा मंडप और गुरा मंडप जैसे तीन हिस्सों में विभाजित किया गया है। इस मंदिर के दीवार पर हिंदू देवी देवताओं की मूर्ति के साथ-साथ विभिन्न आकृतिक और उत्कृष्ट नक्काशीदार स्तंभों से सुसज्जित है। यहां पर आने वाले श्रद्धालु और पर्यटक को को कला प्रेमियों सभी के घूमने के लिए गुजरात के प्रमुख धर्म स्थल में से एक है। konark sun temple भारत में दो विश्व प्रसिद्ध सूर्य मंदिर है। एक देश के पूर्व छोर पर उड़ीसा राज्य में स्थित प्रसिद्ध कोणार्क सूर्य मंदिर है। और दूसरी मंदिर देश के पश्चिमी छोर पर गुजरात राज्य में पाटन से लगभग 30 किलोमीटर दक्षिण में स्थित मोढेरा सूर्य मंदिर है। sun temple konark उड़ीसा के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक मंदिर माना जाता है। यहां पर भी दूर-दूर से पर्यटन दर्शन के लिए आते हैं। मोढेरा सूर्य मंदिर अपने समृद्ध कला में पूजा अर्चना नृत्य एवं संगीत से भरपूर आनंददायक मंदिर था। Places Gujarat Religious

timing of sun temple modhera यदि आप सभी श्रद्धालु मोढेरा के प्रसिद्ध सूर्य मंदिर घूमने जाने के बारे में सोच रहे हैं। तो हम आपको बता दें कि यह मंदिर खुलने और बंद होने का समय के बारे में यह मंदिर सुबह 6:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक खुला रहता है। लेकिन यहां पर श्रद्धालु को सुबह या शाम के समय में घूमने आना चाहिए इस समय में सूर्य के किरण भगवान सूर्य देव की मूर्ति पर पड़ती है। यह दृश्य देखने में काफी सुंदर लगता है, और आश्चर्यचकित भी होता है। Best time to visit the Sun temple modhera या मंदिर घूमने का सबसे अच्छा समय वैसे तो साल में यहां पर श्रद्धालु किसी भी समय आ सकते हैं Places Gujarat Religious लेकिन यदि आप गर्मियों के समय में आते हैं तो यहां का तापमान लगभग 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर जाती है इसीलिए यहां पर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय सर्दियों के मैंने माना जाता है। यहां पर घूमने के लिए आपको जनवरी के चौथे सप्ताह के दौरान बहुत ही सुंदर मौसम रहता है। यहां पर घूमने वाले पर्यटकों के लिए सबसे अच्छा समय माना गया है। entry fee of sun temple इस मंदिर में भारतीय पर्यटन के लिए ₹25 पर व्यक्ति का शुल्क है। और विदेशियों पर्यटक के लिए ₹300 का शुल्क जमा करना होता है। Places Gujarat Religious

famous food of sun temple modhera यहां पर घूमने वाले पर्यटकों के लिए सबसे सुंदर भजन यहां का आसपास के होटल में बनाए गए यहां का प्रसिद्ध भोजन दाल कढ़ी सलाद पूरी चपाती अचार पापड़ और कुछ फैशनेबल मिठाई भी शामिल है इन सभी के अलावा यहां का फेमस ढोकला, थेपला, पैदा करना फाफड़ा, कचौरी, खांडवी, हांडवो, गंठिया, औंधिया, देबरा, सूरत पौन कई ऐसे स्वादिष्ट गुजराती फेमस भोजन है जिनका स्वाद आपको जरुर लेना चाहिए। इन सभी स्वादिष्ट भोजन के अलावा पूरन पोली, श्रीखंड, घेवर, मालपुआ यहां के मीठे पारंपरिक मीठे यहां का प्रसिद्ध मिठाई हैं। इन सभी मिठाइयों के बिना यहां का यात्रा एक दम अधूरी होती है। Places Gujarat Religious

akshardham temple gujarat

Places Gujarat Religious
Places Gujarat Religious

akshardham temple गुजरात के प्रमुख तीर्थ स्थल में से एक माना जाता है। akshardham temple gandhinagar (अक्षरधाम मंदिर गांधीनगर) मैं स्थित है। इस मंदिर में हर साल लाखों संख्या में श्रद्धालु पूजा करने के लिए आते हैं। इस मंदिर में भगवान स्वामीनारायण को समर्पित है। इस मंदिर को BAPS स्वामीनारायण संस्था के द्वारा बनवाया गया था। इस मंदिर के बारे में आपको जानकर हैरानी होगी कि इस मंदिर का निर्माण पूरा होने में 13 साल लगा था और 30 अक्टूबर 1993 को इस मंदिर का उद्घाटन किया गया था। Places Gujarat Religious अक्षरधाम मंदिर लगभग 23 एकड़ के परिसर में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण लगभग 1000 कुशल श्रमिकों द्वारा राजस्थान के 6000 मीट्रिक टन गुलाबी बलुआ पत्थर से किया गया है। यहां पर आने वाले श्रद्धालु भगवान स्वामीनारायण के साथ साथ हिंदू देवी देवताओं की 200 मूर्तियों को भी दर्शन कर लेते हैं। akshardham temple history इस मंदिर में नक्काशीदार स्तंभों से लेकर दीवारों पर वेदों के शिलालेखों तक अपनी आभा सुंदरता और महत्व उत्पन्न करने के लिए अक्षरधाम मंदिर जाना जाता है। akshardham temple ahmedabad का सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक माना जाता है। akshardham temple ticket price यहां पर घूमने वाले श्रद्धालुओं से कोई एंट्री फीस नहीं ली जाती है यहां पर घूमने के लिए बिल्कुल फ्री है। यहां पर पर्यटकों के लिए अलग से भी सुविधाएं दी गई है। akshardham temple timings यह मंदिर शुभा 10:00 बजे से रात के 7:30 बजे तक खुली रहती है। इस समय के दौरान यहां पर पर्यटन आसानी से घूम सकते हैं। Places Gujarat Religious

Best No1 Tourist Places Gujarat Lake And Food Ideas

निष्कर्ष

दोस्त हमने गुजरात राज्य के कुछ फेमस पर्यटन स्थल के बारे में जानने है। जैसे modhera sun temple, palitana jain temple, akshardham temple, lothal, dholavira यहां पर आप किस-किस के माध्यम से आसानी पूर्वक से घूम सकते हैं। Places Gujarat Religious और इन सभी पर्यटन स्थल के जगहों पर कौन-कौन सी फेमस फूड है। और यहां पर आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जान लिए हैं। तो दोस्त यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। दोस्त ऐसे ही टूरिज्म प्लेस के बारे में अलग-अलग जगहों के बारे में लाता रहता हूं तो आप हमें टूरिज्म प्लेस के बारे में जानने के लिए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं। आपको कौन से जगह पर घूमना पसंद करते हैं। बने रहिए टूरिज्म पैलेस के बारे में जानने के लिए। धन्यवाद

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!