tosh

No1 Best Tosh Tourism Places & Tosh Famoum Food

No1 Best Tosh Tourism Places & Tosh Famoum Food

हिमाचल प्रदेश के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थल तोष, पार्वती नदी, खीरगंगा, मलाणा इन सभी जगहों के आसपास के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानेंगे और यहां के सबसे प्रसिद्ध भोजन और आने जाने की गतिविधियों के बारे में भी जानेंगे तो दोस्त बने रहिए टूरिस्ट पैलेस के बारे में जानने के लिए।

tosh | तोष

tosh
tosh

tosh himachal pradesh (तोष हिमाचल प्रदेश) राज्य के कुल्लू जिले में स्थित एक गांव है। यह गांव लगभग 24 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। तोष पर्वत घाटी में कसोल के निकट स्थित है। यह गांव के चारों ओर पहाड़ों से घिरा हुआ है। यहां के लोगों का मुख्य जीविका का साधन पर्यटन उद्योग है। इसके अलावा सेब के बाग भी यहां के लोग के आयु में प्रमुख स्रोत है। यहां के लोगों को घर लकड़ी के बने होते हैं। जो पर्वतीय आर्किटेक्चर का उत्कृष्ट नमूना की तरह रहता है। tosh village (तोष गांव) घूमने के लिए सबसे बढ़िया जगह है यह हैप्पी संस्कृति से शायद पहली बार रूबरू होंगे। यहां पर मोटर बाइक के हिस्सा वाले सड़क मार्ग नहीं है लेकिन अच्छी बात तो यह है कि घूमने के लिए आप पैदल ही यहां के हर जगह पर जा सकते हैं। यहां के सभी पर्यटन स्थल एक-दूसरे के नजदीक में ही स्थित है।

tosh himachal (तोष हिमाचल) घुमक्कड़ का सबसे बेहतरीन अड्डा है। यहां पर आपको बैकषैकर्स यहां पर हमेशा मिलती है। tosh trek ट्रैकिंग करने वाले पर्यटकों को यह जगह स्वर्ग के समान है। इस जगह का नाम खीगंगा और कसोल के नाम से जुड़ा हुआ है। और कई पर्यटन स्थल के नाम से जुड़ा हुआ है।

जमदग्नि ऋषि मंदिर

इस मंदिर में साल में सिर्फ जनवरी-फरवरी के कुछ दिनों के लिए यह मंदिर खुलता है। या तोषा गांव के बीचो-बीच स्थित इस मंदिर के बरामदे से ऊपर देखो तो हिमालय देखने के लिए मिलता है। तेज चिल्लाओ तो आवाज वापस आ जाती है। ऐसा लगता है कि पूरा हिमालय इस मंदिर की रखरखाव वाले के लिए बैठा हुआ है। यदि आप यहां पर घूमने के लिए आते हैं तो इस मंदिर में घूमने के लिए एक बार जरूर आएं। यहां पर पर्यटन दूर-दूर से घूमने के लिए आते हैं।

यहां पर घूमने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से अक्टूबर का समय सबसे बढ़िया होता है। यदि आप घूमने का ज्यादा शॉकिंग रखते हैं तो यहां पर ठंड से प्यारा तो पूरा साल आपकी ही आपका आकर्षण का केंद्र बन जाता है। यह पर्यटन स्थल पर्यटकों के लिए घूमने का सबसे अच्छा जगह है।

hotels in tosh

यहां पर जैसे-जैसे जगह का नाम बढ़ता जा रहा है उसी तरह पर्यटन की संख्या भी यहां पर घूमने के लिए बढ़ते जा रहे हैं इन सभी के साथ-साथ यहां के गेस्ट हाउस और होटल भी बहुत ही रफ्तार से बढ़ रहा है यहां पर रहने की समस्या नहीं होगी पर्यटकों को यहां पर पिंक फ्लॉयड, अश्विन कैफे और होटल हिलटॉप इन सभी के अलावा यहां पर कुछ होमस्टे है। यहां पर पर्यटक ओ को बहुत ही अच्छी तरह से स्वागत करते हैं। tosh valley (तोष घाटी) पर्यटकों के लिए सबसे अच्छा जगह है। tosh temperature यहां का तापमान बहुत ही अनुकूल रहता है यहां पर ज्यादातर पर्यटन गर्मियों के दिन में आते हैं क्योंकि गर्मियों के दिन में यहां का मौसम बहुत ही ठंडा रहता है। tosh weather यहां का मौसम गर्मियों के दिन में हल्की ठंडी रहती है। सर्दियों के दिन में यहां पर बर्फ की बारिश होने लगती है और यहां पर जो पर्यटक बर्फीली जगह घूमने का शौक रखते हैं उस पर्यटकों के लिए यह जगह बहुत ही दिलचस्प है।

famous food

famous food
famous food

यहां पर भारतीय इटैलियन और यूरोपियन 3 किस्म के यहां के खाने के लिए मिलता है यह तीनों खाना यहां का सबसे खूबसूरत भोजन है। यहां के कई सारे कैफे में आपको पिज़्ज़ा और सैंडविच आसानी से मिल जाएंगे। तो तोष में आपको हर प्रकार का खाना भी उपलब्ध कराए जाते हैं। यहां के सबसे फेमस और इतनी खूबसूरत रहती है कि जो आपको खाने में आनंद आएंगे यहां के खूबसूरत मैगी और चाय में भी बड़ी स्वाद होती है। जो पर्यटक मैगी और चाय लेते हैं वह कुछ समय तक गुण गाने लगते हैं।

kasol to tosh distance लगभग 20 किलोमीटर की दूरी हैं। kasol tosh एक दूसरे जगह पर जाने के लिए आपको यहां के निजी वाहन के माध्यम से जा सकते हैं। यदि आप तोष जाने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपको बता दें यहां पर जाने के लिए आप सड़क मार्ग के माध्यम से भी जा सकते हैं दिल्ली से यहां के लिए बहुत आसानी से बस मिल जाती है और यहां के सड़क मार्ग बहुत बड़े बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है। यदि आप रेल मार्ग के माध्यम से यहां तक आना चाहते हैं तो यहां के सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन है। जिसके लिए आपको टॉय ट्रेन कठुआ से आसानी से मिल जाती है। यदि आप हवाई मार्ग के माध्यम से यहां तक आना चाहते हैं। तो हम आपको बता दें कि यहां के सबसे नजदीकी हवाई अड्डा चंडीगढ़ का है चंडीगढ़ से तोष के लिए किसी के माध्यम से आ सकते हैं। Tosh Tourism Places

parvati river | पार्वती नदी

या नदी हिमाचल प्रदेश में कुल्लू शहर से लगभग 10 किलोमीटर दक्षिण से होकर बहती है। पार्वती नदी व्यास नदी का सहायक नदी है। यहां पर पर्यटक मार्च और जुलाई के महीने में राफ्टिंग के लिए जाते हैं। Tosh Tourism Places

kheerganga | खीरगंगा

Tosh Tourism Places
Tosh Tourism Places

खीरगंगा हिमाचल प्रदेश के खूबसूरत शहर कुल्लू में स्थित है। यहां पर हाल ही में 2010 में स्थापित खीरगंगा राष्ट्रीय उद्यान का स्थापित किया था। इससे देश के सबसे खूबसूरत राष्ट्रीय उद्यान के रूप में जाना जाता है। kheerganga altitude (खीरगंगा ऊंचाई) यह उद्यान लगभग 5500 मीटर की उच्च पार्क ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के उत्तर में स्थित है। यह क्षेत्र लगभग 710 किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। खड़ी गंगा हरी-भरी झाड़ियों ऊंचे विशाल पैरों और जंगलों में स्थित पुराने रेस्ट हाउसओं के साथ खीरगंगा राष्ट्र उद्यान कूलर के सबसे आकर्षित पर्यटक स्थल माना जाता है। Tosh Tourism Places

kheerganga trek | खीरगंगा ट्रेक

यहां पर पर्यटकों को ट्रैकिंग करना खीरगंगा नेशनल पार्क एक अहम हिस्सा है। यहां पर ट्रैकिंग के दौरान आप पार्क के समृद्ध वनस्पतियों और जीवो की विभिन्न प्रजातियों को नजदीक से देख सकते हैं। जो पर्यटकों के लिए बहुत ही रोमांचक और शानदार अनुभव देता है। यह राष्ट्रीय उद्यान का पड़ोसी गांव खीरगंगा गर्म पानी के झरनों के लिए भी जाना जाता है। इस गांव में भगवान शिव और देवी पार्वती को समर्पित एक मंदिर भी है। यह ट्रैक बर्सनी से शुरू होता है मणिकरण के पास एक गांव में अंत हो जाता है। kheerganga trek distance बर्सनी से लगभग 11 किलोमीटर दूर पर पर्यटक रूद्र नाग झरना पांडुपोल तीन पार्वती दर्रा इत्यादि जैसे विभिन्न आकर्षणों को आसानी से देख सकते हैं यहां पर एक 2 दिन का ट्रिक है जिससे आप खीरगंगा आसानी से पहुंच सकते हैं। kheerganga trekking (खीरगंगा ट्रैकिंग) के लिए भी प्रसिद्ध माना जाता है। kasol kheerganga trek कसोल से खीरगंगा की ट्रैक आप आसानी से कर सकते हैं। ‌ Tosh Tourism Places

यदि आप अपने दोस्तों या फैमिली यों के साथ छुट्टियों बिताना चाहते हैं तो आपके लिए सबसे अच्छी जगह खीरगंगा राष्ट्रीय उद्यान का प्लान बनाइए यह जगह गर्मियों के दिन में पर्यटक के लिए सबसे अच्छा जगह माना गया है। kheerganga weather (खीरगंगा मौसम) बहुत ही अनुकूल रहता है। kheerganga temperature (खीरगंगा तापमान) गर्मियों के दिन में यहां का तापमान लगभग 10 डिग्री सेल्सियस से 15 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है। यहां पर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून के बीच या सितंबर से नवंबर के बीच का मौसम घूमने के लिए सबसे पवित्र समय है यह समय खीरगंगा यात्रा के लिए बहुत ही अनुकूल समय माना जाता है इस समय में पर्यटक बहुत ही अत्यधिक मात्रा में घूमने के लिए या छुट्टियां बिताने के लिए आते हैं। Tosh Tourism Places

hotel in kheerganga

यदि आप kasol kheerganga  घूमने के लिए अपने परिवार और दोस्तों के साथ कूलर के लोकप्रिय खीरगंगा घूमने जाने का प्लान बना रहे तो यह भी सोच रहे होंगे कि हम यात्रा के दौरान कहां पर रुकना सही होगा। हम आपको बता दें कि खीरगंगा राष्ट्रीय उद्यान के आसपास या श्रीनगर में कम बजट से हाय बजट तक सभी प्रकार के होटल मिली जाती है जिनमें आपको अपनी सुविधा अनुसार होटल्स ले सकते हैं। और अपनी यात्रा के दौरान यहां पर आराम कर सकते हैं Tosh Tourism Places

होटल अमित (Hotel Amit)

होटल ट्रांस शिव (Hotel Trans Shiva)

होटल अरोमा क्लासिक (Hotel Aroma Classic)

होटल कुल्लू वैली (Hotel Kullu Valley)

हिमालयन हेरिटेज होमस्टे (Himalayan Heritage Homestay)

how to reach kheerganga | खीरगंगा कैसे पहुंचे

यदि आप खीरगंगा राष्ट्रीय उद्यान घूमने जा रहे हैं तो आप यह भी सोच रहे होंगे कि हम किसके माध्यम से खीरगंगा राष्ट्रीय उद्यान जान हम आपको बता दें कि यह कुल्लू मनाली का लोकप्रिय पर्यटन स्थल है जो कूलर के माध्यम से हिमाचल प्रदेश और भारत के विभिन्न शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है यहां पर पर्यटक हवाई मार्ग रेल मार्ग या सड़क मार्ग के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। यदि आप हवाई मार्ग के माध्यम से यहां तक आने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपको बता दें कि यहां के सबसे निकटतम हवाई अड्डा कूल्लू का भुंतर मैं अपना हवाई अड्डा है जो नई दिल्ली और चंडीगढ़ से कुल्लू के लिए हवाई उड़ान संचालित है यदि आप हवाई अड्डा पहुंच जाते हैं तो यहां से आपको टैक्सी के माध्यम से खीरगंगा आसानी से पहुंच सकते हैं। यदि आप सड़क मार्ग के माध्यम से यहां तक आने के बारे में सोच रहे तो हम आपको बता दें कि यहां के सड़क मार्ग शहर के बड़े-बड़े शहरों से अच्छी तरह से जुड़ी हुई है। यदि आप रेल मार्ग के माध्यम से यहां तक आना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि यहां के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन है जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन से आप वहां के निजी वाहन के माध्यम से खड़ी गंगा तक आसानी से पहुंच सकते हैं। रेलवे स्टेशन से खीरगंगा की दूरी लगभग 125 किलोमीटर पड़ती है। barshaini to kheerganga distance बर्सनी रोड से लगभग 7.3 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। tosh to kheerganga बर्सनी रोड से लगभग 7.2 किलोमीटर की दूरी है। delhi to kheerganga लगभग 557 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। Tosh Tourism Places

kheerganga trek map
kheerganga trek map

malana | मलाणा शहर के आसपास पर्व पर्यटन स्थल

malana himachal pradesh (मलाणा हिमाचल प्रदेश) यह पर्यटन स्थल हिमाचल प्रदेश के बाकी पर्यटन स्थल से बिल्कुल अलग है। malana village

(मलाणा गांव) कुल्लू जिले में स्थित है जो अपनी मजबूत संस्कृति और धार्मिक मान्यताओं को के लिए मानी जाती है। यह जगह उन पर्यटकों के लिए बहुत खास है जो आध्यात्मिक मार्गदर्शन चाहते हैं। यहां पर पर्यटक एडवेंचर प्रेमियों के लिए भी आदर्श जगह है क्योंकि यहां पर जाने के लिए आप ट्रैकिंग करके भी जा सकते हैं यहां पर सबसे आकर्षक मंदिर भी है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। malana village trek (मलाणा गांव ट्रैक) करने वाले पर्यटकों के लिए यह बहुत आकर्षक जगह है। यहां का सबसे खास बात तो यह है कि यहां पर भारतीय कानून नहीं चलते हैं यह कि अपने संसद है जो सारे फैसले करते हैं दिल्ली के व्यापारी आर्यन शर्मा ने 2004 में मलाणा को अपना लिया था। कुछ साल बाद 2008 जनवरी में मलाणा मैं आग लगने से प्राचीन मंदिरों के कई सांस्कृतिक रचनाएं नष्ट हो गई थी। Tosh Tourism Places

मलाणा गांव के आसपास प्रमुख पर्यटन स्थल, दर्शनीय स्थल | Malana  Ke Pass Aakarshan Sthal

  • मणिकरण साहिब – Manikaran Sahib
  • भंटर – Bhuntar
  • खीरगंगा – Kheerganga
  • महादेव मंदिर – Bijli Mahadev Temple
  • तीर्थन घाटी – Tirthan Valley
  • चंद्रखनी पास – Chandrakhani Pass
  • पार्वती घाटी ट्रेक – Parvati Valley Trek
  • कैसरधर – Kais Dhar
  • हनोगी माता मंदिर – Hanogi Mata Temple
  • भृगु झील – Bhrigu Lake
  • वैष्णो देवी मंदिर – Vaishno Devi Temple
  • नग्गर – Naggar
  • सुल्तानपुर पैलेस – Sultanpur Palace

मलाणा में क्या क्या कर सकते हैं – To do in Malana

मलाणा एक प्रमुख हिल स्टेशन है। यहां पर आप जो करेंगे वह आश्चर्यजनक रूप से अद्वितीय हैं। यदि आप यहां पर यात्रा के लिए जाते हैं तो यहां के सभी गतिविधियों पर नजर डालते जाएं यहां की खूबसूरती आपको मनमोहक होते हैं। malana weather यहां का मौसम बहुत ही अनुकूल रहता है। malana trek के लिए भी बहुत प्रचलित है। Tosh Tourism Places

मलाणा में ट्रैकिंग – Trekking in Malana

मलाणा के घने जंगलों में ट्रैकिंग के बिना यहां की यात्रा अधूरी रह जाती है। यहां के ट्रैक आपको शानदार घाटी से लेकर जाता है। और यहां के पानी की आकर्षित झरनों के पास तक जाता है जो यहां के सबसे अद्भुत दृश्य देखने लायक है। Tosh Tourism Places

malana hotels – मलाणा होटल

  • AYOYA Malana – Shiva Cafe
  • Monk Hut In Bela Moon Cafe
  • AYOYA Malana – Shiva Camps
  • Khalifa House
  • Hotel Tungsten

malana valley best time to visit – मलाणा घाटे घूमने जाने के लिए सबसे अच्छा समय

यदि आप यहां पर यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि यहां का सबसे अच्छा समय मार्च से जून तक ग्रीष्म के महीने होता है। अगर आप यहां की बहुत गतिविधियों में भाग लेना चाहते हैं तो और बर्फबारी देखना चाहते हैं तो सर्दियों का मौसम सबसे अच्छा है। मानसून के मौसम में कुल्लू जाने से बचना चाहिए क्योंकि इस मौसम में यहां पर भूकंप की भी संभावना काफी बनी होती है। जिससे यात्रा जोकि में पढ़ सकते हैं। malana people (मलाणा लोग) मानसून के महीने में बहुत ही सतर्क रहते हैं अन्यथा इस जगह को छोड़कर सबसे ऊंचे वाली जगहों पर रहने के लिए चले जाते हैं। malana himachal (मलाणा हिमाचल) का सबसे प्रसिद्ध स्थान है। Tosh Tourism Places

how to reach malana – कैसे पहुंचे मलाणा

यदि आप मलाणा जाने के बारे में सोच रहे हैं तो सबसे पहले आपको कसोल की यात्रा करना होगा जहां से आपको जरी नामक जगह तक पहुंचने की आवश्यकता है। जो कि लगभग 21.9 किलोमीटर की दूरी पर है। यहां से आप मलाणा टैक्सी के माध्यम से पहुंच सकते हैं यहां से टैक्सी का किराया लगभग ₹800 का खर्च पड़ता है। kasol to malana (कसोल से मलाणा) के लिए आप टैक्सी के माध्यम से जा सकते हैं। kasol to malana distance लगभग 19 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। malana temperature यहां का तापमान बहुत ही कम रहता है। delhi to malana लगभग 517 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। malana to kasol जाने के लिए आपको malana valley Rd के माध्यम से जा सकते हैं। Tosh Tourism Places

No1 Best Dharamshala Tourism Places & Famoum Food

निष्कर्ष

तो दोस्त आज हमने हिमाचल प्रदेश के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थल तोष, पार्वती नदी, खीरगंगा, मलाणा के आसपास घूमने वाले धार्मिक स्थानों के बारे में जाने। और यहां के सबसे प्रसिद्ध भोजन और आने जाने की गतिविधियों के बारे में भी जानने। तो दोस्त या लिखी गई आर्टिकल यदि आपको पसंद आई हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। यदि आप इन सभी जगहों पर घूमने के लिए जाते हैं, तो आपकी यात्रा कुशल मंगल हो।  तो दोस्त बने रहिए टूरिज्म प्लेस के बारे में जानने के लिए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!