No menu items!

Sonemuda Tourist places & Famous Food

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल अमरकंटक धाम के बारे में जानेंगे और यहां के स्थानीय भोजन, आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जानेंगे। तो दोस्त बने रहिए टूरिज्म प्लेस के बारे में जानने के लिए।

amarkantak | अमरकंटक

amarkantak
amarkantak

अमरकंटक मध्य प्रदेश में विंध्य और सतपुरा पर्वत सिंह खड़ा हूं के बीच स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में है। अमरकंटक भारत के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक माना जाता है। जिसकी वजह से इसे तीर्थराज के रूप में भी जानते हैं। amarkantak river (अमरकंटक नदी) यह भारत के सबसे पवित्र नदी में से एक नर्मदा नदी का उद्गम स्थल पर स्थित है। जो अमरकंटक धाम की यात्रा को बेहद खास और पवित्र बनाते हैं। यहां पर हर साल हजारों तीर्थयात्रियों और पृष्ठों को अपनी और आकर्षित करता है। नर्मदा का उद्गम स्थल होने के साथ-साथ अमरकंटक सोहन और जोहिला नदियों के संगम स्थल के रूप में कार्य करते हैं। अमरकंटक लगभग 1065 मीटर की ऊंचाई पर स्थित मध्य प्रदेश का एक खूबसूरत हिल स्टेशन के रूप में जाना जाता है। जो अपने कुछ अति सुंदर मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। अमरकंटक के घने जंगलों में सदियों गुणों से भरपूर पौधे हैं जो इसे परिस्थितिक रूप से महत्वपूर्ण बनाते हैं।

यदि आप अपने फैमिली या फ्रेंड के साथ अमरकंटक धाम की यात्रा का प्लान बना रहे हैं यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल का भ्रमण अवश्य करें यहां पर घूमने के लिए बहुत सारी पर्यटन स्थल है आप अमरकंटक घूमने के लिए जाते हैं तो इसके आसपास के पर्यटन स्थल अवश्य घूमे जो कि आपको नीचे बताया गया है। amarkantak temple यहां का सबसे पवित्र मंदिर माने जाते हैं। amarkantak plateau यहां पर घूमने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं और यहां की खूबसूरती यों का आनंद उठाते हैं। amarkantak weather (अमरकंटक मौसम) यहां का मौसम बहुत ही अनुकूल रहता है। amarkantak hills (अमरकंटक झरना) यहां पर घूमने के लिए बहुत सारे प्रमुख पर्यटन स्थल के साथ-साथ यहां पर झरना भी मौजूद है और यहां की खूबसूरती यों का आनंद आप अच्छी तरह से ले सकते हैं। अमरकंटक घुमने के लिए सबसे प्रशिद्ध स्थान माना गया हैं। अमरकंटक धाम में घूमने के लिए बहुत सारी प्रमुख पर्यटन स्थल है।

amarkantak university | अमरकंटक विश्वविद्यालय

अमरकंटक में बहुत सारी विश्वविद्यालय मौजूद है परंतु यहां पर सबसे प्रसिद्ध और जाने-माने विश्व विद्यालय इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय हैं जो अमरकांत अनूपपुर जिले मध्य प्रदेश भारत में स्थापित किया गया है। इसे भारत सरकार द्वारा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय अधिनियम 2007 के अंतर्गत बनाया गया था।

अमरकंटक मैं पवित्र और अध्यात्मिक का आसपास है। अमरकंटक पर 1800 के दशक में नागपुर के राजा का शासन चलता था। जो बाद में ब्रिटिश शासन के साथ में चला गया। जबकि यह पवित्र धाम धार्मिक महाकाव्य महाभारत में भी महत्वपूर्ण संबंध रखते हैं। जहां माना जाता है कि पांडवों ने अपने निर्वासन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बिताया था। अमरकंटक एक सुंदर तीर्थ स्थल है। जहां पर हर साल हजारों पर्यटक को को अपनी और आकर्षित करता है। और यहां पर घूमने वाले पर्यटक और तीर्थयात्री अमरकंटक के प्राचीन मंदिर के दर्शन और यहां के साथ और मनमोहक वातावरण का आनंद लेने के लिए आते हैं। यदि आप भी अमरकंटक दर्शनीय और इसके पवित्र स्थलों की यात्रा करना चाहते हैं तो आप यहां के सभी प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में अच्छी तरह से जान ले। अमरकंटक धाम में घूमने के लिए बहुत सारी प्रमुख पर्यटन स्थल है।

narmada kund | नर्मदा कुंड

narmada kund
narmada kund

यह कुंड अमरकंटक यात्रा का सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल माना जाता है। जिसे नर्मदा नदी के उत्पत्ति का संकेत देने के लिए बनाया गया है। यहां पर प्राचीन शहर अमरकंठ के केंद्र में स्थित नर्मदा कुंड नर्मदा नदी के उद्गम स्थल माना जाता है। जो 16 प्राचीन पत्थर के मंदिर जैसे नर्मदा मंदिर, भगवान शिव मंदिर, अन्नपूर्णा मंदिर, गुरु गोरखनाथ मंदिर, श्री राम जानकी मंदिर, और श्री राधा कृष्ण मंदिर से गिरे हुए हैं। नर्मदा कुंड के प्रमुख पर्यटन स्थल में एक ऐसा भी स्थल है जिनके बिना अमरकंटक धाम की यात्रा का भी पूरी नहीं हो सकती हैं इस पवित्र स्थल के बारे में जानना चाहते हैं तो यहां पर आप तीर्थ यात्रा और ट्विस्ट को अद्भुत शांति और सुकून महसूस करना पड़ेगा। यहां के पवित्र स्थान पर आप एक बार अवश्य घूमने के लिए आए। यह स्थान पर्यटकों के लिए बहुत ही आकर्षक स्थान है। 

kapil dhara | कपिल धारा

कपिलधारा अमरकंटक यात्रा में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह माना जाता है। नर्मदा कुंड के उत्तर पश्चिम की ओर लगभग 6 किलोमीटर दूरी पर स्थित कपिलधारा को नर्मदा नदी का पहला झरना माना जाता है। यह वाटरफॉल लगभग 100 फीट की ऊंचाई से गिरता है। और हरे भरे वातावरण से घिरा हुआ है जो अपने इन्हीं अट्रैक्टिव आकर्षणों से अमरकंटक आने वाले दोस्तों के लिए यह स्थान आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस वाटरफॉल का नाम कपिल मीनू के नाम से जाना जाता है। जिसके बारे में माना जाता है कि उन्होंने इस स्थान पर ध्यान लगाया था। जब भी आप अपनी फैमिली और दोस्तों के साथ अमरकंटक की यात्रा पर घूमने के लिए जाते हैं तो कपिलधारा को अपने टूरिस्ट प्लेस की लिस्ट में अवश्य शामिल कर लें। क्योंकि यह जगह अमरकंटक घूमने के लिए सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल माना जाता है। Sonemuda Tourist places

trimukhi temple | त्रिमुखी मंदिर

यह मंदिर अमरकंटक में एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। त्रिमुखी मंदिर भारत के सबसे पुराने मंदिर में से एक माना जाता है। त्रिमुखी मंदिर का निर्माण कलचूड़ियों के शासनकाल में राजा कर्ण देव महा चंद्र द्वारा किया जाता था। इसीलिए इस मंदिर को कर्ण मंदिर के रूप से भी जानते हैं। भगवान शिव को समर्पित त्रिमुखी मंदिर अमरकंटक के प्रमुख तीर्थ स्थल में से एक माना जाता है जो अमरकंटक यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं और टूरिस्टो के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। इस मंदिर का सिर्फ भगवान शिव के मुख से गढ़ा गया है जो कलचुरी शिल्पकारों द्वारा की गई पेचीदगियों को दर्शाते हैं। यह स्थान पर्यटकों के लिए घूमने का सबसे अच्छा स्थान माना जाता है। Sonemuda Tourist places

sonakshi shaktipeeth temple | सोनाक्षी शक्तिपीठ मंदिर

यह मंदिर अमरकंटक के प्रसिद्ध मंदिर में से एक माना जाता है। जिसका निर्माण देवी सोनाक्षी के सम्मान में किया गया था। सोनाक्षी शक्ति पीठ मंदिर घूमने के लिए अमरकांत के प्रमुख तीर्थ स्थल में से एक माना जाता है। जो हर साल यहां पर हजारों पर्यटक और श्रद्धालुओं की मेजबानी करती है। इस मंदिर में प्रतिदिन के साथ-साथ नवरात्रि के अवसर पर श्रद्धालुओं की विशाल भीड़ जमा हो जाती है जो सोनाक्षी देवी का आशीर्वाद लेने के लिए यहां पर आते हैं। सोनाक्षी पीठ मंदिर के आसपास के सुंदर परिदृश्य भी दोस्तों के लिए अट्रैक्शन का केंद्र बना है। जहां अक्सर अमरकांत यात्रा पर आने वाले यात्री अकाउंट में समय व्यतीत करने के लिए आते हैं। Sonemuda Tourist places

mai ki bagiya | माई की बगिया

यह स्थान नर्मदा कुंड से लगभग 5 किलोमीटर दूरी पर स्थित देवी नर्मदा को समर्पित पैरों का एक प्राकृतिक ग्रोव है जो आसपास के जंगलों को कवर किया है। माई की बगिया प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर एक शांत जगह है जहां अक्सर पर्यटक और तीर्थयात्री शांत की तलाश में घूमने के लिए आते हैं। इस उद्यान में आम के पेड़ केले के पेड़ और अन्य फलों के पेड़ के साथ-साथ गुलाबकावली, गुलाब और अन्य फूलों के पौधे देखने के लिए मिलता है, जो इस उद्यान की सुंदरता में चार चांद लगा देती है। माई की बगिया पर्यटकों के साथ साथ नियमित रूप से तीर्थ यात्रियों को अपनी और आकर्षित करता है जो नर्मदा नदी की परिक्रमा लगाते हैं। ध्यान से यदि आप माई की बगिया घूमने जाए तो यहां बंदरों से सावधान रहें क्योंकि अक्सर यहां बंदर तीर्थ पर्यटकों को परेशान करते हैं। Sonemuda Tourist places

ancient temples of kalachuri period | कलचुरी कला के प्राचीन मंदिर

इस मंदिर को 1042 से 1072 ईसवी में कलचुरी महाराजा करण देव की देखरेख में निर्मित कलचुरी कला के प्राचीन मंदिर अमरकंटक के प्रमुख पर्यटन स्थल में से एक मानते हैं। यह प्राचीन मंदिर कलचुरी वास्तु कला की विशाल चमक को दर्शाती है। जोकि बालेश्वर महादेव मंदिर और मछेंद्रनाथ मंदिर जैसे मंदिरों में देखी जाती है। यह मंदिर नर्मदा के ठीक पीछे स्थित मंदिर का संरक्षण वर्तमान में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की देखरेख में है। यदि आप इतिहास के शौकीन और प्राचीन वस्तु कला के प्रेमियों है तो आपको अमरकांत यात्रा में कलचुरी कला के इस प्राचीन मंदिर में एक बार अवश्य जानी चाहिये। shiv chaturdashi (शिव चतुर्दशी) अमरकंटक का प्रसिद्ध स्थान है। shri sarvodaya digambar jain temple (श्री सर्वोदय दिगंबर जैन मंदिर) यह मंदिर यहां का सबसे पवित्र मंदिर माना जाता है यहां प्रदर्शनी के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। Sonemuda Tourist places

sonemuda | सोनमुडा

sonemuda
sonemuda

सोनमुडा सोन नदी की उत्पत्ति का बिंदु बना हुआ है। जो नर्मदा कुंड से लगभग 1.5 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यहां शानदार जगह सोन नदी मेला पर्वत से सैकड़ों फीट नीचे के मनोरम दृश्य के लिए जानी जाती है। यदि आप अमरकंटक यात्रा पर जाने वाले हैं तो आपको अपना कुछ समय निकालकर इस आकर्षण जगह पर घूमने के लिए पर्यटकों को जाने चाहिये। Sonemuda Tourist places

kabir chabutra | कबीर चबूतरा

कबीर चबूतरा अमरकंठ से लगभग 5 किलोमीटर दूरी पर बिलासपुर के रास्ते पर स्थित है। अमरकंटक के प्रमुख पर्यटन स्थल में से एक माना जाता है। यहां के लोगों का मानना है कि यह वह स्थान है जहां सॉन्ग कबीर ने आत्मज्ञान और उध्दार प्राप्त किया था। तभी से यह दुनिया भर में तीर्थ यात्रियों के लिए अमरकांत यात्रा का एक श्रद्धेय अस्थल बना है। यहां पर अन्य अट्रैक्शन के रूप में एक छोटा पानी का कुंड और कबीर चबूतरा से थोड़ी ही दूर पर स्थित एक ट्रैकिंग ट्रेल है जो कि स्थानीय लोग और पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय माना जाता है। Sonemuda Tourist places

amarkantak hotels | अमरकंटक में रुकने के लिए होटल्स

यदि आप अमरकंटक घूमने के लिए जाते हैं और वहां पर रुकने के लिए होटल के बारे में सर्च करते हैं तो हम आपको बता दें कि अमरकंटक में रुकने के लिए बहुत सारे होटल्स मौजूद है आप अपनी यात्रा पर जाने से पहले होटल अवश्य बुक कर ले यहां पर पर्यटकों को आसानी से होटल मिल जाते हैं। Sonemuda Tourist places

अमरकंटक का प्रसिद्ध भोजन | famous food Amarkantak

Sonemuda Tourist places
Sonemuda Tourist places

यदि आप अमरकंटक घूमने के लिए जाते हैं तो वहां के पर्यटन स्थल के साथ-साथ प्रसिद्ध भजनों का भी आनंद जरूर लेनी चाहिए। अमरकंटक में प्रसिद्ध भोजन भुट्टे की कीस, कबाब, खोपरा पाक, मालपुआ, जलेबी, इटली, डोसा, बिरयानी, इत्यादि भोजन खाने के लिए मिलता है।

अमरकंटक कैसे जाएं | how to reach Amarkantak

यदि आप अपने फैमिली या दोस्तों के साथ अमरकंटक धाम की यात्रा पर जाना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि अमरकंटक जाने के लिए फ्लाइट ट्रेन या सड़क मार्ग के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। यदि आप हवाई मार्ग के माध्यम से अमरकंटक की यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि अमरकंटक का सबसे निकटतम हवाई अड्डा जबलपुर में स्थित है जो कि अमरकंटक से लगभग 254 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। फ्लाइट से सफर करके जबलपुर एयरपोर्ट पहुंचने के बाद आपको यहां से बस टैक्सी या निजी वाहन के माध्यम से अमरकंटक आसानी से पहुंच सकते हैं। Sonemuda Tourist places

amarkantak train यदि आप ट्रेन से अमरकंटक की यात्रा करना पसंद करते हैं तो हम आपको बता दें कि अमरकंटक का सबसे नजदीक रेलवे स्टेशन शहर से लगभग 17 किलोमीटर दूरी पर स्थित है लेकिन यह रेलवे स्टेशन सिर्फ छोटी रेल रूट से जुड़ा हुआ है इसीलिए यदि आप किसी फर्स्ट ट्रेन से आना चाहते हैं। तो आपको पहले जबलपुर आना होगा जबलपुर रेलवे स्टेशन से आप बसिया ट्रेन टैक्सी के माध्यम से जबलपुर से अमरकंटक आसानी से पहुंच सकते हैं। यदि आप सड़क मार्ग के माध्यम से अमरकंटक जाना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि अमरकंटक जबलपुर से सड़कों के माध्यम से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है कई राज्य संचालित और निजी बसें है जो अमरकंटक और जबलपुर के बीच चलते रहती हैं। आप आसानी से सड़क मार्ग के माध्यम से अमरकंटक पहुंच सकते हैं। jabalpur to amarkantak लगभग 223 किलोमीटर की दूरी पड़ता है।

Satna Tourist places & Famous Food

निष्कर्ष

इस लेख में आपने अमरकंटक धाम की यात्रा और अमरकंटक के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानने यदि आपको हमारी यह लेख अच्छी लगी हो तो आप हमें कमेंट करके जरूर बतायें। और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

Related Stories

Discover

Best No1 Kolhapur Tourist Places & Famous Food

Kolhapur Tourist Places & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल कोल्हापुर के बारे में...

Best No1 Visapur Fort Mumbai & Famous Food

Visapur Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानेंगे...

Best No1 Bhushi Dam Mumbai & Famous Food

Bhushi Dam Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र राज्य के मुंबई में घूमने वाले लोनावाला प्रसिद्ध...

Best No1 Rajmachi Mumbai & Famous Food

Rajmachi Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल राजमाची किला और लोहागढ़ किला...

Best No1 Lonavala Fort Mumbai & Famous Food

Lonavala Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोनावाला किले के बारे...

Best No1 lohagad fort Mumbai & Famous Food

lohagad fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोहागढ़ किला के बारे...

Popular Categories

error: Content is protected !!