prashar lake

Best No1 Prashar lake Tourist Places & Famoum Food

Best No1 Prashar lake Tourist Places & Famoum Food

हिमाचल प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल नग्गर कैसल के बारे में जानेंगे और यहां के आसपास के स्थानों के बारे में जानेंगे और यहां के सबसे प्रसिद्ध भजनों के बारे में भी जानेंगे तो दोस्त बने रहिए टूरिस्ट प्लेस के बारे में जानने के लिए

prashar lake | प्रसार झील

 Prashar lake Tourist Places
Prashar lake Tourist Places

 

यह झील हिमाचल प्रदेश के सभ झील से हटकर एक झील है। यह झील मंडी से लगभग 50 किलोमीटर दूर उत्तर में स्थित है। या एक क्रिस्टल क्लियर वार बॉडी है। जिसमें तीन मंजिल शिवालय भी मौजूद है। जो ऋषि प्रहार को समर्पित है। यह गहरे नीले पानी वाली झील समुद्र तल से लगभग 2730 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह कुल्लू घाटी में शक्तिशाली धोला धारा पर्वत माला से घिरी हुई है। या झील पर्यटकों के लिए एक आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र है। यह स्थान बर्फ से ढकी चोटी से गिरा हुआ रहता है। जो नीचे तेज बहती हुई व्यास नदी का दृश्य देखने में काफी सुंदर लगता है। यदि आप अपनी यात्रा को शानदार बनाना चाहते हैं तो शिमला की यात्रा एक बार अवश्य करें आपको इस दिल की यात्रा करने के बाद अपने आप में दोबारा आने से रोक नहीं पाएंगे।

prashar lake trek | प्रसार झील ट्रैक

इस झील के पास पैकिंग करने के लिए और कैंपिंग पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय माना जाता है। इसी झील के बगल में एक शिविर स्थापित करके आप प्रकृति की गोद में अपना सिर रख सकते हैं। यह झील के पास ट्रैकिंग और कैंपिंग अपनी यात्रा को यादगार बनाने के लिए बहुत खूबसूरत जगह माना जाता है। यहां पर ट्रेकिंग के लिए विभिन्न पैकेज मौजूद रहते हैं। जिन्हें आप पहले ही ऑनलाइन या यहां पर पहुंचकर बुक कर सकते हैं। यहां के हरे-भरे जंगलों में घूमने और झील की नीली सुंदरता को देखना आपको एक खास अनुभव कराते हैं। यह झील हिमाचल प्रदेश का एक प्रमुख कहना है और यह अपने पर्यटकों को कभी निराश नहीं करते हैं। prashar lake weather (प्रसार झील का मौसम) पर्यटकों के लिए बहुत ही सुखद रहता है। prashar lake temperature (प्रसार झील का तापमान) समय के अनुसार यहां का तापमान बढ़ते घटते रहता है। यहां पर गर्मियों के दिनों में यहां का तापमान सबसे अत्यधिक मात्रा 20 डिग्री सेल्सियस तक रहती है और सर्दियों के महीने में यहां का तापमान शून्य से भी नीचे चली जाती है।

यदि आप बर्फ का आनंद लेना चाहते हैं तो आपको सर्दियों दिसंबर से फरवरी की यात्रा के लिए सबसे अच्छा रहेगी। यहां पर दिसंबर के अंतिम सप्ताह से लेकर मार्च के मध्य तक यहां बर्फ काफी मात्रा में देख सकते हैं ग्रीष्म काल अप्रैल से मई यात्रा करने के लिए एक हरा-भरा और सुंदर समय है आपको मॉनसून में इस क्षेत्र की यात्रा करने से बचना चाहिए। क्योंकि इस समय यहां पर बहुत तेज बारिश भी होती है और यह क्षेत्र भूकंपीय क्षेत्र भी माना जाता है।

प्रसार झील ट्रैक पर जाने के लिए कुछ टिप्स को आप ध्यान में रखें क्योंकि आप यहां पर जाने से पहले यहां पर आपको क्या-क्या चीज का जोड़ी पड़ सकता है इन सभी बातों को आप ध्यान से पढ़े और अपने साथ इन सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए लेते जाए तो दोस्त चलते हैं आगे की ओर।

  • यहां पर आप मौसम के हिसाब से अपने साथ गर्म कपड़े लेते जाएं।
  • ट्रैकिंग गियर और उपकरणों को भी साथ में ले जाए और हमेशा तैयार रहें।
  • ट्रैकिंग शूज अच्छी क्वालिटी के होनी चाहिए ताकि आपको कोई परेशानी ना हो वह अपने साथ अच्छी शूज भी लेते जाए।
  • यदि आप मॉनसून के महीने में यात्रा करने चाहते हैं तो आप अपने साथ रेन गियर लेना ना भूलें इस को भी साथ लेकर जाएं।
  • ट्रैकिंग पर जाने से पहले सभी जरूर परमिट पहले से प्राप्त कर लें।
  • आपको ट्रैकिंग पर खाने के लिए कई जगह नहीं मिलती है। आप अपने साथ खाना भी लेते जाएं।
  • ट्रैकिंग के दौरान आप अपने साथ खुद का पानी रखें।

प्रसार झील के पास प्रमुख पर्यटन स्थल | best place to visit near Prashar lake

यदि आप प्रसाद झील के अलावा इसके आसपास के प्रमुख पर्यटन स्थल घूमना चाहते हैं तो आप आसानी पूर्वक से घूम सकते हैं। यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल जो कि नीचे दिए गए हैं। prashar lake himachal (प्रसाद झील हिमाचल) प्रसिद्ध झील है। temperature in prashar lake (प्रशर झील का तापमान) समय के अनुसार बदलते रहता है।

भूतनाथ मंदिर | Bhutnath Temple

यह मंदिर मंडी में स्थित एक प्रमुख धार्मिक स्थल के रूप में जाना जाता है। जिसकी माध्यत्मिकता 1520 के दशक की है। यह मंदिर उतना ही पुराना है जितना पुराना यह शहर भी है। भूतनाथ मंदिर मंडी शहर के केंद्र में स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में भी जाना जाता है। यह भगवान शिव को समर्पित है। यहां आने वाले पर्यटक और तीर्थयात्रियों को भगवान शिव के बैल नंदी को देखेंगे जो परिसर के बाहर स्थित है। यहां पर मार्च के महीने में शिवरात्रि का एक बहुत बड़ा त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है। इस मंदिर का सबसे प्रमुख त्योहार माना जाता है। यहां पर दूर-दूर से श्रद्धालु पूजा करने के लिए इस मंदिर में आते हैं। यहां पर घूमने के लिए कई प्रमुख पर्यटन स्थल और धार्मिक स्थल भी मौजूद है। prashar lake mandi यहां का प्रमुख धार्मिक स्थान के रूप में जाना जाता है। prashar lake accommodation (प्रसार झील आवास) यहां पर आने वाले पर्यटक के लिए यहां के आवास में ठहर सकते हैं।

रिवालसर झील – Rewalsar Lake

बड़ौत – Barot

कामरू नाग झील – Kamrunag Lake

पंचवक्त्र मंदिर – Panchvaktra Temple

शिकारी देवी मंदिर – Shikari Devi Temple

चिंदी – Chindi

जंझली – Janjehli

कमलाह फोर्ट – Kamlah Fort

भीमा काली मंदिर – Bhima Kali Temple

तत्तापानी – Tattapani

सुंदर नगर – Sundernagar

how to reach prashar lake | प्रसार झील कैसे पहुंचे

यदि आप अपने यात्रा के दौरान हवाई मार्ग से यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि प्रसार झील के सबसे नजदीकी हवाई अड्डा भुंतर हवाई अड्डा है। यहां पर आने के बाद आप यहां से नजदीक की वाहन के माध्यम से झील तक पहुंच सकते हैं। यदि आप सड़क मार्ग के माध्यम से यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि यहां के सड़क मार्ग बड़े-बड़े शहरों से जुड़ा हुआ है चंडीगढ़ से बस मंडी तक जाने के लिए लगभग 6 से 7 घंटे का समय लगता है चंडीगढ़ और बिलासपुर के बीच पेज को छोड़कर मनाली तक सड़क काफी सुंदर है। यदि आप रेल मार्ग के माध्यम से यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि यहां के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन पठानकोट रेलवे स्टेशन है जो कि यहां से लगभग 210 किलोमीटर दूरी पर स्थित है यह रेलवे स्टेशन बड़े बड़े शहरों से अच्छी तरह से जुड़ी हुई है और यहां के सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर रेलवे स्टेशन है जो मंडी से लगभग 55 किलोमीटर दूरी पर स्थित है यहां से आप बस या टैक्सी के माध्यम से प्रसार झील पहुंच सकते हैं। chandigarh to prashar lake लगभग 241.9 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। mandi to prashar lake (मंडी से पसार झील) के लिए आप टैक्सी या बस के माध्यम से पहुंच सकते हैं। mandi to prashar lake distance लगभग 48.9 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। delhi to prashar lake लगभग 474.7 किलोमीटर की दूरी पड़ता है।

naggar castle | नग्गर कैसल

naggar castle
naggar castle

नग्गर कैसल हिमाचल प्रदेश के नग्गर शहर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। जो वास्तव में यह महल लकड़ी और पत्थर की मध्ययुगीन हवेली के रूप में जाना जाता है। अब इस हवेली को होटल्स मैं परिवर्तन कर दिया गया है। नग्गर यूरोपीय और हिमालय वस्तु कला का एक संयोजन है। यह कूलर के राजा सिद्ध सिंह द्वारा 1460 में निर्माण करवाया गया था। नग्गर कैसल अब हिमाचल प्रदेश के पर्यटन विकास निगम द्वारा संचालित में है। यह होटल व्यास घाटी के जंगल की शानदार दृश्य की वजह से अब पर्यटकों को पसंदीदा स्थान के रूप में जाना जाता है। या एक प्राचीन संरचना होटल और पर्यटक आकर्षण दोनों के रूप में कार्य करता है। naggar castle manali (नग्गर कैसल मनाली) परिसर में स्थिति छोटे होटल के रूप में जाना जाता है। ‌naggar castle in manali (मनाली में नग्गर कैसल) पर्यटकों के लिए एक प्रमुख आकर्षण केंद्र बन गया है। इस होटल में बॉलीवुड फिल्म्स का भी सीन दिया था। naggar castle jab we met (नग्गर कैसल जब वी मेट) बॉलीवुड फिल्म का शूटिंग किया गया था। यह प्राचीन संरचना होटल और पर्यटकों के लिए आकर्षण दोनों के रूप में कार्य करता है। naggar को एक आर्ट गैलरी भी कहा जाता है। naggar weather यहां का मौसम पर्यटकों के लिए बहुत ही अनुकूल रहता है। naggar castle manali (नग्गर कैसल मनाली) मैं आने वाले पर्यटकों के लिए यह एक आकर्षण बन जाता है।

Best time to visit naggar castle | नग्गर कैसल यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय

naggar himachal pradesh (नग्गर हिमाचल प्रदेश) के प्राचीन देखने वाली वस्तु काफी लंबे समय से पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। naggar himachal (नग्गर हिमाचल) के खूबसूरत गांव पर्यटकों को हर मौसम में पसंद होते हैं। नग्गर की यात्रा करने के लिए ग्रीष्म काल का मौसम सही माना गया है। यहां पर आने वाले पर्यटक रुकने के लिए आवास आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। जब सर्दियों में नग्गर का तापमान गिरता है तो यह बर्फबारी के कारण पूरे क्षेत्र सफेद हो जाते हैं सर्दियों में किसी भी पर्यटकों के लिए आसानी नहीं होता लेकिन आप बर्फबारी की सुंदरता को देखना चाहते हैं तो आपके लिए सर्दी का समय ही सही है। naggar india (नग्गर भारत) का प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। naggar manali (नग्गर मनाली) घूमने वाले पर्यटक को यहां के आसपास पर्यटन स्थल को जरूर घूमे। naggar road manali

(नग्गर रोड मनाली) ट्रेकिंग के लिए पर्यटकों को बहुत अच्छा मार्ग है। manali to naggar distance लगभग 23 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। manali to naggar आप यहां के निजी वाहन के माध्यम से भी नग्गर आसानी से पहुंच सकते हैं।

Trekking and Fishing | ट्रेकिंग और फिशिंग

Trekking and Fishing
Trekking and Fishing

नग्गर की प्राकृतिक सुंदरता और इलाके को कई साहसिक गतिविधियों के लिए उपयुक्त बनाते हैं। नग्गर कई ट्रैक ट्रेंल्स के साथ-साथ बहुत सारे ट्रैक बेस भी मौजूद है। इन सभी के साथ ही नग्गर में ट्राउट फिर सिंह के लिए कुछ दृश्य देखने के लिए मिलते हैं। trekking shoes यहां का दृश्य देखने में बहुत ही आनंददायक होता है। trekking bags यहां पर ट्रैकिंग के दौरान आप अपने साथ बैग से लेना ना भूलें। manali trekking मनाली के लिए सबसे सुंदर ट्रेकिंग के रूप में जाना जाता है। यदि आप यहां पर ट्रेकिंग के लिए जाते हैं तो मनाली मैं ट्रैकिंग के दौरान आप fishing rod (बंसी) जरूर ले। क्योंकि यहां मछली पकड़ने का एक प्रमुख स्थान भी है। यहां पर मछली पकड़ने के बाद आप अपने साथ fishing net (मछली पकड़ने का जाल) भी साथ में ले। क्योंकि यह मछली पकड़ने में आपकी मदद कर सकती हैं। और अपने साथ ट्रैकिंग के दौरान fishing hook (मछली पकड़ने का कांटा) लेना ना भूले। इन सभी के माध्यम से यहां पर आप मछली पकड़ कर आप ट्रैकिंग के दौरान में आपका नाश्ते बना सकते हैं।

Uruswati Himalayan Folk Art Museum | उरुस्वाती हिमालयन लोक कला संग्रहालय

यह संग्रहालय को 1928 में रूसी प्रोफेसर निकोलस रोरिक दोबारा मूल रूप से 110 स्थान के रूप में इसे स्थापित किया गया था। जिसका उद्देश्य एक बौद्धिक वातावरण बनाना था। जहां तिब्बती और भारतीय चिकित्स पर शोध किया जा सकते थे। संग्रहालय निकोलस से लगभग 100 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

Dagpo Shedrupling Monastery | ढक्पो शेड्रुपलिंग मठ

यह मठ हिमाचल प्रदेश का एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। यहां पर दूर-दूर से पर्यटक घूमने के लिए आते हैं dhakpo shedrupling monastery kais, himachal pradesh (ढक्पो शेड्रुपलिंग मठ कैसे, हिमाचल प्रदेश) आने वाले पर्यटकों के लिए यह स्थान बहुत ही आकर्षित स्थान है। यहां पर बर्फ से ढके पहाड़ियों देखने में काफी सुंदर लगता है।

Gauri Shankar temple | गौरी शंकर मंदिर

इस मंदिर में भगवान शिव को समर्पित है। जो मनाली के नगर गांव में स्थित है। इस मंदिर को पत्थरों से उकरी गई एक छोटी और आकर्षक संरचना है। क्षेत्र में इसका ऐतिहासिक महत्व रखता है। देवी गौरी और भगवान शिव को दिव्य स्वर को अभी भी मंदिर में देखा जा सकता है। इस मंदिर की नकाशी दार संरचना शोधकर्ताओं वस्तु कला प्रेमियों और इतिहास प्रेमियों का एक आकर्षक मंदिर है। radha krishna temple (राधा कृष्ण मंदिर) पवित्र धर्म स्थान में से एक माना गया। krishna temple near me इस मंदिर के पास घूमने के लिए बहुत सारी प्रमुख पर्यटन स्थल भी है जो कि इस मंदिर को खूबसूरती में चार चांद लगा देती है।

Jagatipatt temple | जगतीपट्ट मंदिर

यह मंदिर नग्गा का एक प्रमुख मंदिर है। जो नग्गा कैसल परिसर में स्थित एक प्रमुख मंदिर है। और यह मंदिर यहां का बेहद आकर्षक मंदिर है यह मंदिर देवदार लकड़ी से इस तरह बनाया गया है भूकंप का कोई इस मंदिर पर नहीं पढ़ सकता है। यह मंदिर पर्यटकों के लिए बहुत आकर्षक मंदिर है।

नग्गा में स्थानीय प्रसिद्ध भोजन | local famous food in in Naggar

local famous food
local famous food

नग्गा मैं यहां का प्रसिद्ध भोजन ज्यादा विकल्प नहीं उपलब्ध रहते हैं। यहां पर हिमाचली और उतरी भारतीय व्यंजन उपलब्ध हो जाएंगे। इन सभी के अलावा अन्य तरह के भोजन का स्वाद लेना चाहते हैं तो आपको इसके लिए इसके पास के किसी लोकप्रिय शहर की यात्रा करनी पड़ेगी। हिमाचली है भोजन काफी सरल और साधारण होता है लेकिन इसमें कुछ विशिष्ट व्यंजन है जो कि लगभग राज्य में हर जगह पर मिलते हैं। यहां का मुख्य भोजन में चपाती दाल सब्जी की ग्रेवी और दही मिलते हैं। इन सभी व्यंजनों के अलावा भटूरे, वाड़ा, पटरोडु, सत्तू लाल चावल इत्यादि यहां का प्रसिद्ध भोजन है।

नग्गर कैसल कैसे पहुंचे | how to reach naggar castle

नग्गर कैसल घूमने जा रहे हैं तो हम आपको बता दें कि यहां पर कोई भी हवाई अड्डा, रेलवे स्टेशन नहीं है यहां के सबसे निकटतम हवाई अड्डा भुंतर में कुल्लू मनाली हवाई अड्डा है और यहां के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नग्गर में है। एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन दोनों मनाली में अच्छी तरह से जुड़ी हुई है। यदि आप फ्लाइट के माध्यम से यहां आना चाहते हैं तो यहां के सबसे निकटतम हवाई अड्डा कुल्लू मनाली हवाई अड्डा है जो कि यहां से लगभग 31.6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हवाई अड्डा से आप टैक्सी के माध्यम से आसानी से नग्गर कैसल पहुंच सकते हैं। यदि आप सड़क मार्ग के माध्यम से यहां की यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि मनाली तक जाने के लिए निजी सेवाएं का उपयोग कर सकते हैं मनाली और नग्गर के बीच लगभग 21 किलोमीटर की दूरी पड़ता है। मनाली से आप नग्गर क्या कैया टैक्सी के माध्यम से पहुंच सकते हैं।

Best No1 Kalpa Tourist Places & Kalpa Famoum Food

निष्कर्ष

तो दोस्त हमने इस पोस्ट में नग्गर कैसल के बारे में जाने और यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में भी जाने तो दोस्त भी आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। तो दोस्त बने रहिए ग्रीन पैलेस के बारे में जानने के लिए जल्द मिलते हैं अगले पोस्ट में। धन्यवाद

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!