No menu items!

Mandleshwar Tourist places & Famous Food

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल और धार्मिक स्थल महेश्वर के बारे में जानेंगे। और यहां के प्रसिद्ध भोजन आने जाने की व्यवस्था के बारे में भी जानेंगे।

mandleshwar | मंडलेश्वर

mandleshwar
mandleshwar

मंडलेश्वर मध्य प्रदेश के मध्य प्रदेश राज्य में खरगोन जिले में स्थित एक पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। या नगर की आस्थापना महान पंडित मण्डन मिश्रा ने किया था। यह स्थान महेश्वर से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ओड़िया नर्मदा नदी के उत्तर तट पर प्रसिद्ध पर्यटन स्थल के रूप में स्थित है। शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन ने हाल ही में पवित्र नगरी घोषित किया है। शैक्षणिक दृष्टि से या नगर अत्यंत विकसित है। यहां के छोटे या सौंदर्य अप्रतिम है। कृषि क्षेत्र में भी मुंडेश्वर अग्रणीय है। यहां जिला कार्यालय भी मौजूद है। पर्यटन के लिए श्रेष्ठ मुंडेश्वर नर्मदा नदी के तट पर स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाने जाते हैं।

और यह नगर सुंदर घाट और प्राचीन मंदिरों के लिए प्रसिद्ध मानी जाती हैं। यहां इंदौर धामनोद और बडवाह से आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर ठहरने की पर्याप्त व्यवस्था रहती है। यह प्रथम बाजीराव पेशवा द्वारा निर्मित काशी विश्वनाथ मंदिर के नाम से जानते हैं। इसमें सिर्फ पंचायत भी मौजूद है। एवं साथ ही वासुदेव नंद सरस्वती स्वामी महाराज द्वारा काशी विश्वनाथ मंदिर में ही उनकी कोठी स्थित है। जहां उनके चरण पादुका भी है। यह मंदिर करीब 250 वर्ष पुरानी मानी जाती है जो प्रथम बाजीराव पेशवा द्वारा मंदिर के संस्थापक अनिल जहांगीरदार जी के पूर्वजों को दिया था। तब से ही या मंदिर जिम्मेदारी जहांगीरदार परिवार की हो गई है। और यहां के देख रेख की सभी व्यवस्थाएं को उपलब्ध रखती है। Mandleshwar Tourist places

यह स्थान नर्मदा नदी के तट पर स्थित मंडलेश्वर प्राचीन मंदिर का एक शहर माना जाता है। मुंडेश्वर का उल्लेख रामायण और महाभारत के हिंदू महा कवियों में किया गया है। जिससे माहिष्मती के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर शांत सुंदर से बसा यह शहर अपने मंदिर किला और स्नान घाटों के लिए प्रसिद्ध माने जाते हैं। जो निश्चित ही महेश्वर के प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में से एक हैं। यह प्राचीन शहर अपने मंदिर और पर्यटक स्थलों के साथ-साथ साड़ियों में अपनी फूलों के डिजाइन के लिए पूरी देश में प्रसिद्ध मानी जाती हैं। मुंडेश्वर के मंदिर और किले की अद्भुत वस्तु कला की भव्यता के कारण मुंडेश्वर पर्यटकों की तीर्थ यात्रियों और कला प्रेमियों के लिए मुंडेश्वर में घूमने की सबसे अच्छी जगह मानी जाती हैं। यदि आप मंडलेश्वर की यात्रा पर जाने वाले हैं तो यहां के सभी दर्शनीय मंदिर का भ्रमण अवश्य करें। यहां पर खूबसूरत दृश्य देखने के लिए मिलता है। मुंडेश्वर में देश के सभी जगहों से पर्यटक घूमने के लिए आते हैं और नर्मदा नदी में स्नान करते हैं। Mandleshwar Tourist places

rajwada palace | राजवाड़ा महल

rajwada palace
rajwada palace

यह महल मध्य प्रदेश राज्य के इंदौर शहर में स्थित एक राजशाही महल के रूप में जाना जाता है। इस महल का निर्माण लगभग 200 साल पहले किया गया था। और आज तक यह माल पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। इस्माइल की वास्तुकला फ्रेंच मराठा और मुगल शैली के कई रूपों व वास्तुशैलियां का मिश्रण माना जाता है। राजवाड़ा अपने इतिहास में तीन बार जल चुका है। और 1984 में लगी अंतिम आदि ने इसे भीषण पहुंचाई थी। आज केवल बाहरी हिस्सा मौजूद है। रजवाड़ा महल इंदौर शहर के बीचोंबीच स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। यह शहर का दिल कहे जाने वाले राजबाला का एक हिस्सा धरा शाही है। होलकर राजाओं द्वारा बनाई गई इस आलीशान महल रजवाड़ा का अर्थ बना हुआ है। यह जगह जहां राज्य राजवाड़े रहते हैं यह एक साथ मंजिल बना हुआ है। इस महल की खूबसूरती आज भी बरकरार है। Mandleshwar Tourist places

भारत की सबसे शक्तिशाली महल शासकों में से एक रानी अहिल्या होलकर के शासन काल में निर्मित राजवाड़ा महल है। यह महल फैमिली या दोस्तों के साथ आप यहां पर अच्छी तरह से घूम सकते हैं। राजवाड़ा के प्रमुख आकर्षणों में से एक अहिल्याबाई की मूर्ति देखने के लिए मिलता है। जो प्रवेश द्वार के ठीक ऊपर में ही स्थित है। जब भी आप महेश्वर की यात्रा पर जाए तो अपने यात्रा में इस खूबसूरत जगह घूमने अवश्य जाएं जिससे महेश्वर आने पर्यटकों के लिए यह जगह स्वर्ग के समान है। यदि आप राजवाड़ा घूमने के लिए आते हैं तो यहां पर ठहरने के लिए hotel rajwada (राजवाड़ा में होटल) बहुत सारी है आप यहां पर आसानी से रह सकते हैं। Mandleshwar Tourist places

narmada ghat | नर्मदा घाट

यह घाट होल्कर राज्य की तत्कालीन शासक महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने 18वीं शताब्दी में बनवाया था। यहां के लोगों को विश्वास है कि नर्मदा नदी भारत की सभी पावन नदियों से सबसे अच्छी और पवित्र मानी जाती है। ऐसे भी कहावत है कि जब गंगा नदी अपने आप को मेला महसूस करती है तो वह एक काली गाय के वेश में आकर नर्मदा में अपने आप को साफ करती है। नर्मदा घाट यहां पर पवित्र स्नान के लिए आने वाले भक्तों से भरा रहता है। इस घाट से नदी का स्वरूप देखने के लिए मिलता है। या ना दे पूरे राज्य से होकर गुजरती है। इसीलिए इस नदी को मध्य प्रदेश वासियों के दिलों से अलग नहीं किया जा सकता है।  अपने आप में अनोखा होने के साथ ही नर्मदा घाट प्राचीन काल से अवश्य आश्चर्यचकित होती है। नर्मदा में स्नान को भक्ति और पवित्र क्रिया मानने वाले हजारों श्रद्धालु रोज यहां पर आते हैं। Mandleshwar Tourist places

यहां पर हरे भरे वातावरण से गिरा नर्मदा घाट महेश्वर शहर के निकट में ही स्थित है। नर्मदा घाट एक पिकनिक स्पॉट होने के साथ-साथ हिंदू तीर्थ यात्रियों के लिए धार्मिक स्थल के रूप में जानते हैं। जहां हिंदू धर्म के लोग अमावस्या पूर्णिमा जैसे अन्य हिंदू त्योहारों में नर्मदा में स्नान करने के लिए जाते हैं। यदि आप महेश्वर की यात्रा पर जाते हैं तो आप नर्मदा घाट अवश्य भ्रमण करें जहां आप भारत की सबसे पवित्र नदियों में एक नर्मदा नदी में स्नान कर सकते हैं। यहां पर आप अपने फैमिली के साथ एकांत में समय व्यक्त कर सकते हैं।

khargone | खरगोन

khargone
khargone

यह स्थान भारत के मध्य प्रदेश राज्य के खरगोन जिले में स्थित एक नगर के रूप में है। यह जिला का मुख्यालय भी माना जाता है। यहां पर प्रत्येक वर्ष जनवरी-फरवरी के महीनों में नवग्रह मेला का आयोजन किया जाता है। जिसे आसपास के सभी ग्रामीण क्षेत्र के लोग घूमने यहां पर आते हैं। यहां पर 2020 के मेलों में बॉलीवुड अभिनेता गोविंदा जी भी यहां पर घूमने के लिए आए थे। यहां पर घूमने के लिए बहुत सारी प्रमुख पर्यटन स्थल हैं जिससे आप यहां की खूबसूरती यों को अच्छी तरह से देख सकते हैं। ‌khargone weather यहां का मौसम घूमने वाले पर्यटकों के लिए बहुत ही सुंदर रहता है। khargone mp (खरगोन मध्य प्रदेश के) बहुत ही प्रसिद्ध स्थान माना जाता है। ‌khargone pin code 451001

mahashivratri | महाशिवरात्रि

महाशिवरात्रि उत्सव हिमाचल प्रदेश का लोक प्रिय उत्सव माना जाता है। और यह उत्सव हिमाचल प्रदेश में सबसे प्रसिद्ध और देश भर में जाने जाते हैं। जो देश के सबसे बड़े शिवरात्रि उत्सव की मेजबानी करती है। सप्ताह भर चलने वाला मंडी शिवरात्रि मेला हर साल भूतनाथ भगवान शिव के मंदिर के पास आयोजित करते हैं। जो पूरे देश और विदेश से पर्यटक को आकर्षित करते हैं। महाशिवरात्रि उत्सव के दौरान यहां हर साल एक शोभा यात्रा का आयोजन रखा जाता है। जिसमें बेमिसाल उत्सव और अत्यधिक भागीदारी देखी जाती है। जहां भगवान शिव को दूध मक्खन दही शहद और चीनी से युक्त पांच शुद्ध सामग्री का एक भोग चढ़ाया जाता है। mahashivratri images यहां का दृश्य देखने में काफी सुंदर लगता है। Mandleshwar Tourist places

omkareshwar temple | ओंकारेश्वर मंदिर

यह मंदिर मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर के रूप में जाना जाता है। या नर्मदा नदी के बीच मांधाता या शिवपुरी नामक द्वीप पर स्थित है। यह भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक माना जाता है। यहां पर सदियों पहले भी जनजाति ने इस जगह पर लोग की बस्तियों बसाई और अब अपनी भव्यता और इतिहास से प्रसिद्ध है। यहां का मोरटक्का गंगा से लगभग 14 किलोमीटर दूरी पर बसा हुआ है। यह द्वीप हिंदू पवित्र चीन ओम के आकार में बना हुआ है। यहां पर दो मंदिर स्थित है। ऊंकारेश्वर मंदिर और ममलेश्वर मंदिर यह मंदिर यहां का सबसे प्रसिद्ध मंदिर माना जाता है। ओकारेश्वर मंदिर के दर्शन के अलावा आप यहां के ममलेश्वर मंदिर का भी दर्शन कर सकते हैं। इस मंदिर का वास्तविक नाम अमरेश्वर मंदिर है। या एक संरक्षित स्मारक के रूप में है। जो प्राचीन भारत के असाधारण स्थापत्य शैली को प्रदर्शित करता है। ममलेश्वर मंदिर एक छोटे से क्षेत्र में फैला हुआ है जिसमें एक हॉल और एक गर्भगृह भी देखने के लिए मिलता है। यह मंदिर मध्य प्रदेश के सबसे पवित्र और प्रसिद्ध मंदिर माना जाता है। omkareshwar temple images (ओंकेश्वर मंदिर चित्र) इस मंदिर का अलग-अलग चित्र देखने में काफी सुंदर लगता है। यहां का दृश्य देखकर पर्यटक मंत्र मुग्ध हो जाते हैं। omkareshwar temple timings (ओंकारेश्वर मंदिर का समय) मंदिर पर्यटकों के लिए सुबह 5:00 बजे से रात्रि 10:00 बजे तक खुली रहती है। आप यहां पर इस समय के दौरान यहां के पवित्र धार्मिक स्थल का भ्रमण कर सकते हैं। Mandleshwar Tourist places

ahilya fort | अहिल्या किला

यह किला महेश्वर में एक चट्टान के किनारे स्थित पर्यटकों के लिए एक आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। अहिल्या किला 250 साल पुराना माना जाता है। जिससे होल्कर किले के रूप में भी जानते हैं। maheshwar ahilya fort अपने ऐतिहासिक महत्व के लिए प्रसिद्ध माना जाता है। क्योंकि यह किला 1766 और 1795 के दौरान मराठा रानी अहिल्याबाई होल्कर की राजधानी थी। ahilya fort maheshwar (अहिल्या किला महेश्वरी) के ऊपर से पूरे महेश्वर शहर और घाट के अद्भुत दृश्य को अच्छी तरह से देखा जा सकता है। जो पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। यहां पर अक्सर पर्यटक महेश्वर की यात्रा में प्राकृतिक सोंद्रयता से भरपूर शहर के मनमोहनिए दृश्य को देखने के लिए यहां पर पर्यटक आना पसंद करते हैं। Mandleshwar Tourist places

महेश्वर घूमने का अच्छा समय | best time to visit Maheshwar

यदि आप महेश्वर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल की यात्रा के लिए जाना चाहते हैं तो आप अक्टूबर से मार्च के बीच आसानी से घूम सकते हैं। इस महीना में यहां का मौसम बहुत ही अनुकूल रहता है और यहां पर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय माना गया है। महेश्वर में गर्मी का मौसम काफी अत्यधिक मात्रा में रहता है और यहां का तापमान लगभग 45 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा हो जाता है। यहां पर घूमने के लिए सबसे अच्छा सर्दियों का मौसम में ही माना गया है। आप यहां पर सुखद मौसम में बिना किसी परेशानी से महेश्वर के प्रमुख पर्यटन स्थल की यात्रा कर सकते हैं। Mandleshwar Tourist places

महेश्वर के प्रसिद्ध भजन | famous food Maheshwar

Mandleshwar Tourist places
Mandleshwar Tourist places

यदि आप महेश्वर घूमने के लिए जाते हैं तो महेश्वर का प्रसिद्ध भजनों का आनंद अवश्य लें। यहां के प्रसिद्ध भजनों में पर्यटक को गेहूं, चावल, मांस, और मछली से बने पकवान है। इसके साथ ही यहां पर आपको दाल बाफला, बिरयानी, कबाब, कोरमा, पोहा, रोगन जोश, जिलेबी इत्यादि बहुत प्रसिद्ध व्यंजन खाने के लिए मिलता है। Mandleshwar Tourist places

महेश्वर कैसे पहुंचे | how to reach Maheshwar

यदि आप महेश्वर की यात्रा पर जाने वाले है तो हम आपको बता दें कि आप हमारी ट्रेन या सड़क मार्ग से किसी भी के माध्यम से ट्रैवल कर सकते हैं। यदि आप मैं सॉरी के लिए फ्लाइट का सिलेक्शन किया है तो आपके जानकारी के लिए हम बता दें कि महेश्वरी का सबसे निकटतम हवाई अड्डा देवी अहिल्या होल्कर हवाई इंदौर में स्थित है। महेश्वर से लगभग 12 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। या हवाई अड्डा भारत के प्रमुख शहर से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यदि आप रेल मार्ग के माध्यम से महेश्वर यात्रा करना चाहते हैं तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महेश्वर का नजदीक रेलवे स्टेशन महेश्वर शहर से लगभग 39 किलोमीटर दूरी पर स्थित मारवाहा रेलवे स्टेशन है जो महेश्वर शहर से कुछ ही दूरी पर स्थित है लेकिन यहां सभी ट्रेन नहीं रुकती है इसीलिए मैं स्वर का सबसे प्रमुख रेलवे स्टेशन इंदौर में है इंदौर जंक्शन भारत के सभी रेलवे स्टेशन से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यदि आप बस के माध्यम से महेश्वर की यात्रा करना चाहते हैं तो महेश्वर के लिए इंदौर खंडवा जैसे प्रमुख शहर से बस संचालित की जाती है। जिनसे कहीं से।भी पर्यटक आसानी से पहुंच सकते हैं। Mandleshwar Tourist places

Sonemuda Tourist places & Famous Food

निष्कर्ष

तो दोस्त इस आर्टिकल में हम मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानने और यहां के प्रसिद्ध भोजन आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जाने यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं।

Related Stories

Discover

Best No1 Kolhapur Tourist Places & Famous Food

Kolhapur Tourist Places & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल कोल्हापुर के बारे में...

Best No1 Visapur Fort Mumbai & Famous Food

Visapur Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानेंगे...

Best No1 Bhushi Dam Mumbai & Famous Food

Bhushi Dam Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र राज्य के मुंबई में घूमने वाले लोनावाला प्रसिद्ध...

Best No1 Rajmachi Mumbai & Famous Food

Rajmachi Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल राजमाची किला और लोहागढ़ किला...

Best No1 Lonavala Fort Mumbai & Famous Food

Lonavala Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोनावाला किले के बारे...

Best No1 lohagad fort Mumbai & Famous Food

lohagad fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोहागढ़ किला के बारे...

Popular Categories

error: Content is protected !!