No menu items!

Burhanpur Tourist places & Famous Food

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल बुरहानपुर और शिवपुरी के बारे में जानेंगे और यहां के प्रसिद्ध भोजन, आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जानेंगे तो दोस्त बने रहिए टूरिज्म पैलेस के बारे में जानने के लिए।

burhanpur district | बुरहानपुर जिला

burhanpur district
burhanpur district

burhanpur (बुरहानपुर) भारत के मध्य प्रदेश राज्य का एक ऐतिहासिक जिला है। जिला का मुख्यालय बुरहानपुर है।

burhanpur history | बुरहानपुर इतिहास

बुरहानपुर खानदेश की राजधानी था। इसको 14वीं शताब्दी में खानदेश के फारुकी वंश के सुल्तान मलिक अहमद के पुत्र नसीर द्वारा बसाया गया था। अकबर ने 1599 ईस्वी में बुरहानपुर पर अधिकार जमा लिया था। अकबर ने 1601 ईस्वी में खानदेश को मुगल साम्राज्य में शामिल कर लिया। उसके बाद शाहजहां की प्रिय बेगम मुमताज की सन 1631 ईस्वी में यही मृत्यु हो गई। मराठा होने बुरहानपुर को उनके बार लूटा और बाद में इस प्रांत से चौथ वसूल करने का अधिकार भी मुगल सम्राट से प्राप्त कर लिया था। बुरहानपुर कई वर्ष तक मुगलों और मराठों की झड़पों का गवाह रहा था। और उसके बाद में आर्थर विलेजली ने सन 1803 ईस्वी में जीता। सन 1805 ईस्वी में सिंधिया को वापस कर दिया और 1861 ईस्वी में या ब्रिटिश सत्ता को हस्तांतरित हो गया था। यहां पर घूमने के लिए बहुत सारी प्रमुख पर्यटन स्थल है जो कि पर्यटक को को अपनी और आकर्षित करता है।

where is burhanpur | बुरहानपुर कहां है

यह स्थान तापी नदी के तट पर स्थित मध्यप्रदेश में अपने समृद्धि अतिथि के लिए प्रसिद्ध मानी जाती है। इस मध्य आकार के शहर का नाम शेख बुरहान उद्दीन के नाम से रखा गया है। इसे बोहरा मुस्लिमों के साथ-साथ सिखों के लिए भी तीर्थ के रूप में जानते हैं। बुरहानपुर एक जगह के रूप में भी लोकप्रिय माना जाता है। जहां रानी मुमताज के शहरी को ताजमहल में शिफ्ट करने से पहले रखा था। क्योंकि बुरहानपुर मुगल साम्राज्य का एक विविन अंग था। इसीलिए इसमें बड़ी संख्या में छोटे-छोटे आ स्मारक भी देखने के लिए मिलता है। जो बुरहानपुर को मध्य प्रदेश में घूमने के लिए आकर्षित बनाती है। burhanpur mp (बुरहानपुर मध्य प्रदेश) का प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। ‌burhanpur temperature (बुरहानपुर तापमान) यहां का तापमान समय के अनुसार बढ़ते घटते रहता है। burhanpur pin code 450331

बुरहानपुर में घूमने के लिए प्रमुख पर्यटन स्थल | places to visit in burhanpu

  • बादशाही किला
  • कुंडी भंडार
  • जामा मस्जिद
  • असीरगढ़ का किला
  • बहराम शाह मकबरा
  • दरगाह-ए-हकीमी

बुरहानपुर कैसे पहुंचे | how to reach Burhanpur

burhanpur railway station (बुरहानपुर रेलवे स्टेशन) के माध्यम से आप यहां तक आसानी से पहुंच सकते हैं बुरहानपुर का अपना खुद रेलवे स्टेशन है इसीलिए ट्रेन से पूरनपुर पहुंचने का सबसे अच्छा और तीर्थ यात्रा के रूप में प्रसिद्ध माना जाता है। indore to burhanpur bus (इंदौर से बुरहानपुर के लिए बस) इंदौर से समय-समय पर नियमित समय से चलते रहती हैं और नियमित समय से बस बुरहानपुर पहुंचाती है। indore to burhanpur (इंदौर से बुरहानपुर) रेल मार्ग के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। indore to burhanpur distance लगभग 181.5 किलोमीटर है। burhanpur to indore (बुरहानपुर से इंदौर) बस या ट्रेन और निजी वाहन के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। burhanpur hotels यदि आप बुरहानपुर घूमने के लिए आते हैं तो यहां पर आने के लिए बहुत सारे होटल आपको लो बजट से हाय बजट में आसानी से मिल सकते हैं आप अपने अनुसार से होटल्स का सिलेक्शन कर सकते हैं।

burhanpur map

burhanpur map
burhanpur map

asirgarh fort haunted story | असीरगढ़ किला भूतिया कहानी

asirgarh fort (असीरगढ़ का किला) बुरहानपुर से लगभग 14 किलोमीटर दूर एक ऐतिहासिक और रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण किला माना जाता है। सतपुर पहाड़ी के एक टाइल के शीर्ष पर एक ऐतिहासिक अजय किला है। जो भारत के दक्षिण भाग को विनियमित करने के लिए इस किले को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। क्योंकि कुछ इतिहासकार ने इसे डेक्कन की चाबी नाम से संबोधित किया था। कुछ लेखक कौन है कहां की इस किले पर विजय प्राप्त करना दक्षिण क्षेत्र या खानदेश पर कब्जा करने के तरीके अधिक आसान हो जाता था। यह अपने वैश्य लगभग 259 मीटर ऊंचे हैं और समुद्र स्तर से लगभग 701 मीटर ऊंचाई पर स्थित है। इस किले के अंदर एक मस्जिद भगवान शिव मंदिर और एक महल भी देखने के लिए मिलता है। यह वास्तव में तीन भागों में विकसित किया गया है। प्रत्येक भाग का अपना नाम पहले भाग को असिर्गगढ़ कहां जाता है। दूसरे भाग में कमगरगढ़ और त्रिभुज भाग मलय गढ़ कहते हैं। Burhanpur Tourist places

यह किला शक्तिशाली सतपुरा पर्वतमाला में फैले स्थित हैं। जिसे पहले आसपास हरी गढ़ के नाम से जानते थे। अहीर शासक आसा अहिर द्वारा स्थापित किया गया था। यह मध्य प्रदेश के बेहतरीन किले में से एक माना जाता है। इस किले के अंदर एक मस्जिद मंदिर और गुरुद्वार देखने के लिए मिलता है। किले का हादसा एक अलग युग का है सभी हिस्सा आश्चर्यजनक कहानियां बनाते हैं किले की फि की सुंदरता अभी भी पर्यटकों को विभिन्न योग की झलक प्रदान करती है। जो इससे मध्य प्रदेश में घूमने के लिए सबसे अच्छा किला माना जाता है। यह किला पर्यटकों के लिए सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक खुली रहती है इस समय के दौरान पर्यटक यहां के खूबसूरत योग का आनंद उठा सकते हैं। Burhanpur Tourist places

यहां पर पर्यटकों को घूमने के लिए बिल्कुल फ्री है इसमें प्रवेश शुल्क नहीं लिए जाते हैं। यदि आप यहां पर घूमने के लिए जाते हैं तो हम आपको बता दें कि आप हवाई मार्ग, ट्रेन मार्ग और सड़क मार्ग के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। यहां पर हवाई मार्ग से जाने के लिए आपको यहां के निकटतम हवाई अड्डा इंदौर में स्थित है आप आसानी से पहुंच सकते हैं। और ट्रेन मार्ग असीरग मैं एक रेलवे स्टेशन है जो बुरहानपुर रेलवे स्टेशन से लगभग 20 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यदि आप सड़क मार्ग के माध्यम से जाना चाहते हैं तो असीरगढ़ किला एक भारतीय किला है जो बुरहानपुर शहर से लगभग 20 किलोमीटर दूरी पर स्थित है उत्तर में सतपुड़ा रेंज में स्थित है। असीरगढ़ किला आप सड़क मार्ग के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं। baldeoji temple यह मंदिर यहां का सबसे पवित्र मंदिर माना जाता है। Burhanpur Tourist places

panna national park national park | पन्ना नेशनल पार्क

panna tiger reserve (पन्ना टाइगर रिजर्व) मध्य प्रदेश के panna (पन्ना) और सतपुरा जिले में स्थित यह राष्ट्रीय उद्यान भारत के 22वें बाघ अभ्यारण और मध्य प्रदेश में पांचवें अभ्यारण में से एक है। यह अभ्यारण 542 दशमलव 67 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। panna national park (पन्ना नेशनल पार्क) में जंगली बिल्ली बाघ हरिन और मिर्गी के अलावा विभिन्न वन्यजीव और 200 पक्षियों की प्रजाति का घर है। वन्य जीव प्रजातियों और हरी-भरी पहाड़ियों के अलावा इस अभ्यारण से होकर बहने वाली केन नदी भी इसके आकर्षण में चार चांद लगा देती है। यह पार्क अपने वन्य जीव के साथ साथ नवपाषाण यूग के कई ऐतिहासिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध माने जाते हैं। panna stone (पन्ना पत्थर) से घिरे पार्क है। Burhanpur Tourist places

pandava falls and caves | पांडव गुफाएं और फॉल्स

पांडव गुफाएं और झरने पन्ना शहर से लगभग 12 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। और राष्ट्रीय पार्क से बहुत ही नजदीक में स्थित है। राष्ट्रीय राजमार्ग से इस स्थल तक पहुंचने में काफी आसान होता है। या झरना यहां के एक स्थानीय स्प्रिंग से उत्पन्न हुआ है। और पन्ना के पर्यटन में सबसे अच्छी फीचर्स भी दिया गया है। या झरना साल के सभी दौर में बातें रहता है और मॉनसून के दौरान योजना पूरी तरह से भर जाता है या लगभग 100 फीट की ऊंचाई से गिरता है। यहां का मनोरम दृश्य देखने में बहुत ही सुंदर लगता है। Burhanpur Tourist places

diamond mines in india | भारत में diamond mines

diamond mines in india
diamond mines in india

panna diamond mines (हीरे की खदानें) मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में हीरा खदानों के सबसे बड़ा इलाके में 1 जनवरी से कामकाज उठ गया क्योंकि 31 दिसंबर 2020 को उसकी वन्यजीव क्षेत्र में खनन संबंधित मंजूरी खत्म हो गई थी हीरा की खुदाई वाले इस जिले में खनन का कामकाज रुकने से सरकारी अधिकारियों और वन संरक्षण वादियों के ठन गया है। पन्ना में बेहद अहम बांध संरक्षण अभयारण्य भी मौजूद है। पन्ना बांध संरक्षण के फील्ड डायरेक्टर यूके शर्मा के मुताबिक अभयारण्य प्रबंधक ने केंद्र सरकार के राष्ट्रीय खनिज विकास निगम को वन्यजीव संबंधित मंजूरी खत्म होने के फैसले के बाद खनन से जुड़ी सारी गतिविधियों को रोक देने के लिए बोला गया था। diamond mines in world (दुनिया में हीरे की खदान) में से एक है हीरे की खदान ए ने पन्ना के लोगों को दुनिया भर में पहचान दिलाई है जिससे वह बनाए रखना चाहते हैं। Burhanpur Tourist places

diamond mines in india are found in (भारत में हीरा की खदान पाई जाती है) यह खदान मध्यप्रदेश में पन्ना जिले में स्थित है। इसी खदान से इस शहर को दुनिया भर में जाना जाता है। panna national park hotels (पन्ना नेशनल पार्क होटल) यदि आप यहां पर घूमने के लिए आते हैं तो यहां पर आने के लिए कई सारे होटल्स मौजूद है आप अपने अनुसार से यहां के होटलों को बुक करके रह सकते हैं। Burhanpur Tourist places

raneh falls | रनेह जलप्रपात

रनेह जलप्रपात छतरपुर जिले में स्थित एक आकर्षित वाटरफॉल के रूप में जाना जाता है। जो कि खजुराहो पर्यटन स्थल से लगभग 12 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। खुदार और केन नदी संगम से रनेह जलप्रपात बनते हैं। इस जलप्रपात के बारे में रोचक तथ्य यह है कि यह लगभग 5 किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है और अपने साथ कई छोटे-बड़े जलप्रपातओं को मिलाता है। यह जलप्रपात की खूबसूरती को देखने के लिए पर्यटक दूर-दूर से घूमने के लिए आते हैं। यहां का प्रमुख वाटरफॉल लगभग 98 फीट गहरा और इसकी पानी रंग बिरंगी ग्रेनाइट चट्टानों से होकर गुजरती है। जो की आकर्षक दृश्य को प्रस्तुत करता है। Burhanpur Tourist places

padmavati devi or badi devi temple | पन्दावती देवी या बड़ी देवी मंदिर

यह मंदिर मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाने जाते हैं।

shivpuri | शिवपुरी

madhya pradesh shivpuri (शिवपुरी मध्य प्रदेश) के हिल स्टेशन में से एक शिवपुरी हिल स्टेशन भारत के सबसे शांत जगहों में से एक माना जाता है। shivpuri weather यहां का मौसम बहुत ही अनुकूल रहता है। क्योंकि समुद्र तल से लगभग 478 मीटर की ऊंचाई पर स्थित शिवपुरी दिल्ली की बीजों और भीड़भाड़ भरी लाइफ से एक ब्रेक लेने और अपनी फैमिली या फ्रेंड के साथ स्पेंड करने के लिए सही जगह माना जाता है। shivpuri mp (शिवपुरी मध्य प्रदेश) राज्य का एक प्रसिद्ध पौराणिक शहर माना जाता है। क्योंकि यहां पर घूमने के लिए करेरा पक्षी अभ्यारण और माधव नेशनल पार्क जैसे विकल्प मौजूद हैं। tourist village shivpuri यहां पर घूमने के लिए इन सभी के अलावा कुंड महल झील और अन्य पर्यटक स्थल है। जहां आप अपनी फैमिली या फ्रेंड के साथ घूमने के लिए जा सकते हैं। यह स्थान मध्य प्रदेश के प्रमुख हिल स्टेशन में से एक शिवपुरी की यात्रा मौज मस्ती कर सकते हैं। shivpuri pin code 473551

madhav national park | माधव नेशनल पार्क

madhav national park
madhav national park

यह पार्क मध्य प्रदेश राज्य के शिवापुर मैं स्थित एक प्रसिद्ध नेशनल पार्क है। जिसकी गिनती मध्य प्रदेश के सबसे अधिक घूमने जाने वाले राष्ट्रीय उद्यान में से एक हैं। madhav national park shivpuri (माधव नेशनल पार्क शिवापुर) कभी मुगल बादशाहों और मराठा राजघरानों के शिकारगाह के रूप में अपनी पहचान रखा था। माधव वन्य जीव अभ्यारण लगभग 354 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है। जो अपने प्रकृति सुंदरता और पाए जाने वाले वन्यजीव वनस्पति जीव जंतु और हरे भरे वातावरण से हर साल हजारों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। जब भी आप माधव नेशनल पार्क की यात्रा पड़ जाए तो वन्य जीव के अलावा आप यहां के कई झील झरनों घने जंगल और महल का भी आनंद ले सकते हैं। यह पाक पर्यटकों के लिए सुबह 6:30 बजे से शाम 6:00 बजे तक खुली रहती हैं Burhanpur Tourist places

moosi maharani ki chhatri | मूसी महारानी की छतरी ऐतिहासिक महत्व का एक प्रमुख स्मारक के रूप में है। इस दो मंजिलें भवन का निर्माण विनय सिंह ने महाराजा बख्तावर सिंह और उनकी रानी मौसी के सम्मान में ईशा पश्चात वर्ष 1815 में बनवाया था। ऐसा स्मारक की वस्तु कला की भव्यता ऐसा स्मारक को शानदार दृश्य प्रदान करती है। यह स्मारक लाल बालू पत्थर से बनी हाथी के स्मारक की संरचनाएं इस की ओर ध्यान आकर्षित करती हैं। इससे मारक के ऊपरी मंजिल में संगमरमर से बनाई गई हैं। असामान्य गोलछा शानदार पट्टी और मेहराब है। स्मारक की आंतरिक रचना में शानदार नकाशी देखने के लिए मिलता है। और दीवारों पर चित्र बनाए गए हैं। इस परिसर में सैकड़ों पक्षी और मोर देखने के लिए मिलता है। जो यहां आने वाले पर्यटकों के लिए दावत के समान रहता है। अरावली का सुरम्य अस्थान हरी-भरी पत्तियों और रंग-बिरंगे फूल इस स्थान की शोभा को बढ़ा देती है। babu maan mittran di chhatri यहां का सबसे जाने-माने स्मारकों में से एक हैं। Burhanpur Tourist places

shinde chhatri | शिंदे छात्री

शिंदे छतरी 18 वीं शताब्दी के सैन्य नेता महादाजी संधि को समर्पित एक स्मारक के रूप में है। chhatri जिन्होंने पैसों के तहत मराठा सेना के कमांडर इन चीफ के रूप में कार्य करता है।

bhadaiya kund | भदैया कुंड

यह कुंन शिवपुरी का प्रसिद्ध कुंड झरना प्राकृतिक सुंदरता का अद्भुत नजारा देखने के लिए मिलता है। भदैया कुंड उच्च खनिज सामग्री के लिए प्रसिद्ध माना जाता है। और इससे खूबसूरत स्थान पर पर्यटक पिकनिक का आनंद लेने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। खास करके मॉनसून के महीने में इस झरने का महत्व और अधिक बढ़ जाता है। Burhanpur Tourist places

karera bird sanctuary | करेरा पक्षी अभ्यारण शिवपुरी

करेरा पक्षी अभ्यारण में स्थित एक शिवपुरी शहर में स्थित एक शानदार प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में है। जो कि पक्षी विज्ञान और पक्षी प्रेमियों के लिए एक आनंदित गंतव्य माना जाता है। करेरा पक्षी अभ्यारण शिवपुरी से लगभग 55 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। करेरा पक्षी अभ्यारण मैं हर साल पक्षियों की कई प्रजातियां को मेजबानी करता है। इस अभ्यारण में प्रवासी पक्षी और शिवपुरी के स्थानीय पक्षियों को देखा जा सकता है। करेरा पक्षी अभ्यारण में लगभग 245 प्रजातियों के पक्षियों के साथ भारतीय रॉबिन, चैती, एग्रेत, स्पूनबिल, बगुला, पिंटेल, और ब्लैक बेल्ड रिवर टर्न इत्यादि पक्षियों का निवास होता है। Burhanpur Tourist places

शिवपुरी में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन | famous food of Shivpur

Burhanpur Tourist places
Burhanpur Tourist places

शिवपुरी में पर्यटक के दौरान आप कई प्रकार के भोजन का सेवन कर सकते हैं। हम आपको बता दें कि शिवपुरी में स्वादिष्ट खाने के लिए सबसे अच्छी भोजन कबाब, भुट्टे का किस, कोपरा पाक, मालपुआ यहां का सबसे प्रसिद्ध भोजन माना जाता है।

Mandleshwar Tourist places & Famous Food

निष्कर्ष

तो दोस्त आज की इस पोस्ट में हम मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल शिवपुरी और बुरहानपुर के बारे में जाने। और यहां के प्रसिद्ध भोजन, आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जाने। तो दोस्त यह पोस्ट आपको कैसी लगी आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Related Stories

Discover

Best No1 Kolhapur Tourist Places & Famous Food

Kolhapur Tourist Places & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल कोल्हापुर के बारे में...

Best No1 Visapur Fort Mumbai & Famous Food

Visapur Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानेंगे...

Best No1 Bhushi Dam Mumbai & Famous Food

Bhushi Dam Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र राज्य के मुंबई में घूमने वाले लोनावाला प्रसिद्ध...

Best No1 Rajmachi Mumbai & Famous Food

Rajmachi Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल राजमाची किला और लोहागढ़ किला...

Best No1 Lonavala Fort Mumbai & Famous Food

Lonavala Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोनावाला किले के बारे...

Best No1 lohagad fort Mumbai & Famous Food

lohagad fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोहागढ़ किला के बारे...

Popular Categories

error: Content is protected !!