No menu items!

Bhojpur Tourist places & Famous Food

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल उदयगिरी गुफाएं और खंडगिरि गुफाएं के बारे में जानेंगे। और यहां के प्रसिद्ध भोजन आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जानेंगे।

udayagiri caves | उदयगिरि गुफ़ाएं

udayagiri caves
udayagiri caves

उदयगिरी की गुफाएं भोपाल से लगभग 58 किलोमीटर की दूरी पर विदिशा जिले में स्थित 20 गुप्त युग की गुफाओं और मठों का एक समूह बना हुआ है। जो एक चट्टानी पहाड़ी से उकेरा गया है। जिसमें से एक जैन धर्म और बाकी हिंदू धर्म को समर्पित है। सबसे प्रमुख पांचवी गुफा जोकि भगवान विष्णु की प्राचीन स्मारक प्रतिमा के लिए प्रसिद्ध माना जाता है। उनके अवतार में सूअर से सिर वाले वराह के रूप में भूदेवी को बचाते हैं। गुफा आठ के पास शुरू होने वाला मार्ग उदयगिरि की एक और अनूठी विशेषता को दर्शाती है। इसमें से एक प्राकृतिक घाटी है जो गुफा के पूर्व पश्चिम की ओर जाती है। यह पांचवीं शताब्दी का स्मारक रॉक शेल्टर, पेट्रोग्लिफ्स, एपीग्राफ, किलेबंदी का घर बना हुआ है। जो सभी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीन में आता है। यदि आप घूमने और इतिहास के शौकीन हैं तो उदयगिरी की गुफाएं आपकी यात्रा के लिए बहुत ही सुंदर है। जहां आप प्राकृतिक सुंदरता से गिरे इन गुफाओं में हजारों साल पुरानी पत्थरों की कलाकृति को अच्छी तरह से देख सकते हैं। साथ भगवान विष्णु जी के वराह अवतार के दर्शन भी कर सकते हैं। इस लेख में हम उदयगिरी की गुफा से जुड़ी सभी तथ्य और यात्रा से जुड़ी जानकारी के बारे में जानेंगे।

udayagiri and khandagiri caves | उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं

udayagiri khandagiri caves (उदयगिरि खंडगिरि गुफाएं) ओडिशा में भुवनेश्वर शहर से लगभग 7 किलोमीटर दूरी पर पहाड़ियों पर स्थित है। यह गुफाएं भारत की प्राचीन और ऐतिहासिक गुफाओं में से एक माना जाता है। जिसका उल्लेख हाथीगुम्फा शिलालेख में कुमारी पर्वत के रूप में किया गया है। इन गुफाओं के बारे में कहा जाता है कि यह जैन समुदाय द्वारा बनाई गई है। और यह गुफाओं जैन समुदाय द्वारा बनाई गई सबसे शुरुआती गुफाओं में से एक माना जाता है। उदयगिरी और खंडगिरि दोनों अलग-अलग गुफाएं हैं। उदयगिरी में लगभग 18 गुफाएं देखने के लिए मिलता है और खंडगिरि में 15 गुफाएं हैं। इस समूह की सबसे महत्वपूर्ण गुफा उदयगिरी के अंदर स्थित रानीगुम्फा है। जो एक दो मंजिल मठ है। इन गुफाओं को कटक गुफाओं के रूप में जानते हैं। यह स्थान एक महान ऐतिहासिक महत्व रखा जाता है। जो पर्यटक को और ऐतिहासिक प्रेमियों सभी को अपनी और खींचे आने पर मजबूर कर देता है।

उदयगिरि और खंडगिरि गुफाओं का इतिहास बहुत ही गुप्त कला से लगभग 350 से 550 ईसवी पूर्व माना जाता है। जो हिंदू धार्मिक विचारों की निवास का युग है। इतिहासकारों और शोधकर्ताओं के अनुसार उदयगिरि और खंडगिरि की अधिकांश गुफाओं को दूसरी शताब्दी ईस्वी पूर्व में राजा खारवेल के शासनकाल के दौरान जैन भिक्षुओं के लिए आवासीय ब्लॉक के रूप में उकेरा गया था। जबकि कुछ बारीक और अलंकृत नक्काशीदार गुफाएं पहली शताब्दी ईस्वी पूर्व की मानते हैं। इन प्राचीन रॉक कट गुफाओं की खोज पहली बार 19वीं शताब्दी ईस्वी में एक युवा ब्रिटिश अधिकारी एंड्रीयू स्टर्लिंग के द्वारा किया गया था। गुफाओं के ऐतिहासिक महत्व को देखते हुए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण में इन्हें अपने संरक्षण के लिए है। जो अब इन गुफाओं की देखरेख करते हैं।

udayagiri caves | उदयगिरी गुफाएं

udayagiri caves
udayagiri caves

उदयगिरि गुफाएं पहाड़ी के दाएं और स्थित प्रमुख गुफाएं मानी जाती है। जिसमें 18 प्रमुख गुफाएं शामिल है। उदयगिरी की गुफाएं खंडगिरि की तुलना में अधिक सुंदर और बेहतर माना जाता है। आप जब भी यहां आएंगे तो नीचे दी गई इन 18 गुफाओं क्यों अवश्य देखने का प्रयास कीजिए गा।

  1. रानी गुफा- रानी गुफा उदयगिरि और खंडगिरि गुफा की सबसे बड़ी और प्रसिद्ध गुफा मानी जाती हैं। जिसके अन्य कई प्राचीन और सुंदर मूर्तियां देखने के लिए मिलते हैं। यह गुफा उदयगिरि की सबसे प्रसिद्ध और प्रमुख गुफाएं में से एक है। यदि आप उदयगिरि घूमने के लिए जाते हैं तो उदयगिरि के सबसे प्रमुख गुफाओं का अवश्य भ्रमण करें उदयगिरी की सबसे प्रमुख गुफाओं में से रानी को सबसे प्रसिद्ध और सबसे बड़ी गुफा मानी जाती है। यहां की खूबसूरती और इस गुफा की रचना पर्यटकों को मंत्र मुग्ध कर देते हैं।
  2. बाजघर गुम्फा- बाजघर गुम्फा एक छोटी गुफा के रूप में है। यह गुफा जिसें प्राचीन मैं जैन भिक्षुओं के आश्रय के रूप में उपयोग किया जाता है। आयताकार आकार की इस गुफा में गंभे और पत्थर का बिस्तर और तकिया देखने के लिए मिलता है।
  3. छोटा हाथी गुम्फा- यह गुफा हाथियों की छह छोटी आकृतियों और एक अभिभावक की मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध माने जाते हैं। यह गुफा उदयगिरी की सबसे प्रसिद्ध गुफा में से एक माना जाता है। यहां की सुंदरता पर्यटकों को अपनी ओर खींचता है।
  4. ‌ अलकापुरी गुम्फा- यह गुम्फा ज्योति दो मंजिल रचना से बनाया गया है। जिसका मुख्य आकर्षण एक शेर मूर्ति है। जो अपने शिकार और मुंह में पकड़े हुए जानवरों का दृश्य दिखाता है। यह गुफा यहां के सबसे अच्छी गुफा में से एक माना जाता है।
  5. जया विजया गुम्फा- यह गुम्फा जो दो मंजिल संरचना है। जिसमें भारी झुमके बैंड पहनने और खूबसूरती से सजाए गए बाल एक महिला की नक्काशी देखने के लिए मिलता है। इस नक्काशी को देखने के बाद यहां की इतिहास के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त हो जाती हैं।
  6. पनासा गुम्फा- यह गुम्फा एक छोटे गुफा के रूप में स्थित है। जिसमें कोई महत्वपूर्ण विशेषता नहीं दर्शाती हैं। लेकिन फिर भी यह देखने के लिए सबसे प्रसिद्ध माना जाता है। यहां की खूबसूरती पर्यटकों को बहुत ही भारी संख्या में अपनी ओर खींचती है।
  7. ठकुरानी गुम्फा- ठाकुरानी गुम्फा जोकि दो मंजिल की गुफा है। जिसमें कुछ छोटी-छोटी मूर्तियों देखने के लिए मिलता है। जिन्हें आप यहां अच्छी तरह से देख सकते हैं।
  8. पातालपुरी गुम्फा- यह गुफा यहां का प्रसिद्ध गुफाओं में से एक माना जाता है। यह गुफा खंभों वाले बरामदे के साथ खड़ी है।
  9. मनकापुरी और स्वर्गपूरी गुम्फा- इस गुफा में जिनकी पूजा करते हुए दो नर और दो मादा की आकृतियों की मूर्ति को दर्शाया गया है। जिसमें रखवाला मगध से वापस लाए थे। गुफाओं में जैन धर्म का धार्मिक चिन्ह भी देखने के लिए मिलता है। जो क्षतिग्रस्त स्थिति में है।
  10. गणेश गुम्फा- गणेश गुम्फा उदयगिरी की सबसे महत्वपूर्ण गुफा में से एक माना जाता है। इस गुफा का नाम इसके दाहिने कक्ष के पीछे गणेश की नक्काशी धारा कृति के लिए रखा गया था। जब भी इस गुफा में पर्यटक प्रवेश करने वाले होंगे तो हाथी की दो बड़ी मूर्तियां देखने के लिए मिलता है। जो माला ले जा रही प्रतिमा रूप में बनाई गई हैं।
  11. जम्बेस्वरा गुम्फा- यह गुफा उदयगिरि की सबसे छोटी गुफाओं में से एक है। इस गुफा में मौजूद शिलालेख से अंदाजा लिया जाता है कि यह महामदे की पत्नी नायिका की गुफा मानी जाती है।
  12. व्याघर गुम्फा- व्याघर गुम्फा उदयगिरि की सबसे प्रसिद्ध गुफा में से एक माना जाता है। यह गुफा खंडहर में है लेकिन यह फिर भी देखने के योग्य में माने जाते हैं।
  13. सरपा गुम्फा – यह गुफा एक असामान्य रूप से छोटी गुफा मानी जाती है। जिसमें दो शिलालेख देखने के लिए मिलता है।
  14. हाथी गुम्फा- यह गुफा उदयगिरि गुफा समूह एक बड़ी प्राकृतिक गुफा के रूप में जाना जाता है। जिसे हाथी की उत्कृष्ट नक्काशी धार के कारण अपना नाम प्राप्त किया हुआ है।
  15. धनाघर गुम्फा- यह गुफा बहुत ही छोटी गुफा के रूप में है। जिस के प्रवेश द्वार पर दो छोरे अस्थम और द्वारपाल की मूर्तियों को बनाई गई है।
  16. हरिदास गुम्फा- इस गुफा में अंदर जाने के लिए तीन प्रवेश द्वार और सामने की ओर एक बरामदा बनाए गए हैं। यहां का एक शिलालेख भी देखने के लिए मिलता है।
  17. जगन्नाथ गुम्फा- यह गुफा तीन प्रवेश द्वार वाली गुफा है। इस गुफा की खूबसूरती देखने में काफी सुंदर लगता है।
  18. रसुई गुम्फा- रसुई गुम्फा उदयगिरी की सबसे अंतिम गुफाओं है। यह गुफा उदयगिरी की सबसे अंतिम और सबसे प्रसिद्ध मानी जाती हैं।

खंडगिरि की प्रसिद्ध गुफाएं | khandgiri caves

khandgiri caves
khandgiri caves

जब भी आप खंडगिरि की यात्रा के दौरान भुवनेश्वर से इस क्षेत्र में प्रवेश करते हैं तो। खंडगिरि पहाड़ियों आपके बाय और देखने के लिए मिलेंगे। जहां 15 गुफाएं का समूह आसानी से देख सकते हैं और भ्रमण कर सकते हैं। जिनके बारे में हम नीचे जानेंगे।

  • तातोवा गुम्फा
  • तातोवा गुम्फा
  • अनंत गुम्फा
  • तेंतुली गुम्फा
  • खंडगिरि गुम्फा
  • ध्यान गुम्फा
  • नवमुनि गुम्फा
  • बरभुजी गुम्फा
  • ट्रुसुला गुम्फा
  • अंबिका गुम्फा
  • लालतेन्दु केशरी गुम्फा

udayagiri and khandagiri caves timings | उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं खुलने और बंद होने की समय

हम आपको बता दें कि उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं पर्यटकों के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह से लेकर शाम तक खुली रहती है इस दौरान आप किसी भी समय यहां पर या कर घूम सकते हैं ध्यान दें इन गुफाओं के विस्तृत यात्रा के लिए 3 से 4 घंटे का समय निकालकर ही इस गुफा में प्रवेश करें क्योंकि यहां की सुंदरता देखने में कम से कम 3 से 4 घंटे का समय लगता है। इस गुफा में भारतीय पर्यटकों को प्रवेश शुल्क ₹15 हैं और 15 साल से छोटे बच्चों के लिए यहां पर घूमने के लिए बिल्कुल फ्री है। और विदेशी पर्यटकों के लिए ₹300 प्रति व्यक्ति प्रवेश शुल्क लिया जाता है।

उदयगिरी और खंडगिरि के प्रसिद्ध भजन | famous food udaygiri and khandgiri

यदि आप उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं के भ्रमण के लिए जाते हैं तो उदयगिरि और खंडगिरि के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल के साथ-साथ यहां के प्रसिद्ध भजनों का आनंद भी अवश्य लें। उदयगिरि और खंडगिरि में सबसे प्रसिद्ध भोजन यहां के पर्यटकों को जिलेबी, पोहा, मावा बाटी, चक्की की शाक, बिरयानी पिलाफ, रोगन जोश, सीख कबाब, भुट्टे की कीस, पोहा जलेबी, दाल बाफला यहां के प्रसिद्ध भोजन माना जाता है।

उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं भुवनेश्वर कैसे पहुंचे | how to reach udaygiri and khandagiri caves Bhubaneswar

यदि आप इन गुफाओं की यात्रा पर जाना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि यहां पर जाने के लिए फ्लाइट रेल और सड़क मार्ग मैं किसी से भी यात्रा कर सकते हैं। यदि आप फ्लाइट से उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं जानना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि गुफाओं का नजदीकी हवाई अड्डा भुवनेश्वर हवाई अड्डा है जिसे बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा के नाम से जाना जाता है जो यहां से लगभग 8 किलोमीटर दूरी पर स्थित है यदि आप यहां पर उतरते हैं तो यहां के बाहरी और निजी वाहन के माध्यम से गुफाएं तक आसानी से पहुंच सकते हैं। यदि आप ट्रेन मार के माध्यम से गुफाएं की यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि भुवनेश्वर का अपना रेलवे स्टेशन है जो देश के पूर्व भाग के महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यदि आप उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं सड़क मार्ग के माध्यम से यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि उदयगिरि और खंडगिरि सड़क मार्ग देश के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है आप सड़क मार्ग के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हैं।

chanderi | चंदेरी

chanderi
chanderi

चंदेरी शहर भारत के मध्य प्रदेश राज्य के अशोकनगर जिले में बुंदेलखंड और मालवा की सीमा पर स्थित एक प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। चंदेरी शहर के पर्यटन स्थल में कई मशहूर आकर्षण स्थल शामिल है। जैसे आकर्षित पहाड़ियों, मंत्र मुग्ध कर देने वाली झीलें और हरे-भरे घने जंगलों से घिरे खूबसूरती दर्शनीय स्थल है। चंदेरी शहर देखने और घूमने के साथ-साथ अपने कल्चर स्थानीय भोजन और हाथ से बनी चंदेरी की फेमस साड़ी के लिए बहुत ही प्रसिद्ध मानी जाती हैं। चंदेरी शहर में हिंदू मुस्लिम और आदिवासियों का निवास स्थान माना गया है। और प्रत्येक की संस्कृति के दूसरे से विभिन्न है। हालांकि कुछ मामलों में समानता भी देखने के लिए मिलता है। 18 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला चंदेरी शहर को दो व्यापक खंडों में विभाजित कर दिया गया है। पहला अंधेरे शहर और दूसरा बाहर शहर चंदेरी में बने मंदिर महलों मस्जिद और हवेलियों की सुंदर कलाकृतियों और वस्तु शिल्प आसानी से देखी जा सकती हैं। चंदेरी नगरी बेतवा नदी के दक्षिण पश्चिम क्षेत्र में पहाड़ियों से अच्छी तरह से घिरा हुआ है।

chanderi tourist places | चंदेरी के प्रमुख पर्यटन स्थल

चंदेरी शहर में पर्यटकों के लिए बहुत सारी घूमने के लिए जगहों से भरा हुआ है। यदि आप चंदेरी सर घूमने के लिए आते हैं तो नीचे दिए गए प्रमुख जगहों पर आवश्यक घूमने की प्रयास करें। यहां के सभी प्रमुख पर्यटन स्थल यहां की सुंदरता में चार चांद लगा देती हैं यह जगह मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध जगहों में से एक माना जाता है यहां पर घूमने के लिए दूर-दूर से पर्यटक आते हैं और यहां की खूबसूरती यों का आनंद उठाते हैं यदि आप भी मध्य प्रदेश के चंदेरी शहर में घूमने के लिए जाते हैं तो वहां के आसपास के सभी प्रमुख पर्यटन स्थल को अवश्य भ्रमण करें। जो चंदेरी शहर का सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल माना जाता है। तो दोस्त बने रहिए टूरिस्ट प्लेस के बारे में जानने के लिए।

  • भीमसेन गुफा (भियादंत)
  • चंदेरी का किला
  • खंडगिरि मंदिर
  • कटि घटि गेटवे
  • पुरातत्व संग्रहालय (ASI)
  • कौशक महाल
  • श्री जगेश्वरी मंदिर
  • रानी महल
  • जौहर स्मारक
  • शहजादी का रोजा
  • राजघाट डैम
  • श्री चौबीसी जैन मंदिर
  • जामा मस्जिद
  • बादल महल
  • खुनी दरवाजा
  • रामनगर पैलेस

bawangaja | बावनगजा

बावनगजा मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में स्थित एक प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल के रूप में जाना जाता है। यहां का मुख्य आकर्षण पहाड़ से काटकर निर्मित प्रथम तीर्थंकर ऋषि देव जी की विशाल प्रतिमा देखने के लिए मिलता है। यह प्राचीन प्रतिमा लगभग 72 फीट ऊंची है। इसका निर्माण लगभग 12 वीं शताब्दी में किया गया था। यह बरवानी से लगभग 8 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। सतपुरा की पर्वत श्रृंखला स्थितियां जैन तीर्थ अत्यंत मनोरम दृश्य प्रदान करती है।

hoshangabad | होशंगाबाद

यह स्थान मध्य प्रदेश के नर्मदा नदी के किनारे पर स्थित एक आकर्षण पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाता है। जिसे नर्मदापुरम के नाम से भी जानते हैं। होशंगाबाद को अपना नाम मालवा क्षेत्र के पहले शासक होशंग शाह मिला हुआ था। होशंगाबाद जिला के कई प्राकृतिक दर्शनीय और ऐतिहासिक स्थलों का एक ऐसा मिश्रण है जो बड़ी संख्या में पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यहां पर घूमने के लिए बहुत सारी प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जो कि यहां की खूबसूरती में चार चांद लगा देती हैं। hoshangabad weather यहां का मौसम बहुत ही अनुकूल रहता है। hoshangabad pin code 461001

bhojpur | भोजपुर

भोजपुर मध्य प्रदेश के विदास से 45 मील की दूरी पर रायसेन जिले में वेत्रवती नदी के किनारे बसा एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह प्राचीन कला का यह नगर उत्तर भारत का सोमनाथ भी कहा जाता है। गांव से लगी हुई पहाड़ी पर एक विशाल शिव मंदिर देखने के लिए मिलता है। जो कि यहां के सबसे पवित्र और प्रसिद्ध मंदिर माना जाता है। इस नगर तथा उसके शिवलिंग की स्थापना धार के प्रसिद्ध परमार राजा भोज ने अपने शासनकाल के दौरान 1010 ईस्वी से 1053 ईसवी के दौरान निर्माण किया था। अतः इसे bhojpur temple (भोजपुर मंदिर) या भोजेश्वर मंदिर नाम से जाना जाता है। bhojpur bhopal (भोजपुर भोपाल) का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल माना जाता है। bhojpur shivling (भोजपुर शिवलिंग) यहां कब प्रसिद्ध और पवित्र मंदिर माना जाता है इसे भोजपुर मंदिर या भोजेश्वर मंदिर से भी जाना जाता है।

bhojpur temple bhopal | भोजपुर मंदिर भोपाल

bhojpur temple bhopal
bhojpur temple bhopal

गांव से लगी हुई पहाड़ियों पर एक विशाल शिव मंदिर है जो इस नगर तथा उसके शिवलिंग की स्थापना धरा के प्रसिद्ध परंपरा राजा भोज ने किया था। जिसे भोजपुर मंदिर या भोजेश्वर मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। मंदिर की पूर्णरूपेण नहीं बन पाया है। इसका चबूतरा बहुत ऊंचा है जिसके गर्व गिरी में एक बड़ा सा पत्थर के टुकड़े का पोलीस किया गया शिवलिंग है। जिसकी ऊंचाई लगभग 3.50 मीटर है। इसे भारत के मंदिरों में पाए जाने वाले सबसे बड़े शिवलिंग में से एक माना जाता है। यह मंदिर यहां का सबसे पवित्र और प्रसिद्ध मंदिर है यहां पर 10 अन्य के लिए दूर-दूर से पर्यटन भारी संख्या में आते हैं और यहां की खूबसूरती यों का आनंद उठाते हैं।

Maharashtra Tourist places & Food

निष्कर्ष

तो दोस्त आज की इस पोस्ट में मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं के बारे में जाने और यहां के प्रसिद्ध भोजन आने-जाने की सुविधा के बारे में भी जाने दो दोस्त यह पोस्ट आपको कैसी लगी आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं।

Related Stories

Discover

Best No1 Kolhapur Tourist Places & Famous Food

Kolhapur Tourist Places & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल कोल्हापुर के बारे में...

Best No1 Visapur Fort Mumbai & Famous Food

Visapur Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में जानेंगे...

Best No1 Bhushi Dam Mumbai & Famous Food

Bhushi Dam Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र राज्य के मुंबई में घूमने वाले लोनावाला प्रसिद्ध...

Best No1 Rajmachi Mumbai & Famous Food

Rajmachi Mumbai & Famous Food महाराष्ट्र के प्रमुख पर्यटन स्थल राजमाची किला और लोहागढ़ किला...

Best No1 Lonavala Fort Mumbai & Famous Food

Lonavala Fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोनावाला किले के बारे...

Best No1 lohagad fort Mumbai & Famous Food

lohagad fort Mumbai & Famous Food मुंबई के प्रमुख पर्यटन स्थल लोहागढ़ किला के बारे...

Popular Categories

error: Content is protected !!